जहांगीरपुरी हिंसा में बड़ा खुलासा, 30 फोन नंबर से खुलेगा इस घटना का पूरा सच

Edited By Anil dev, Updated: 20 Apr, 2022 11:58 AM

national news punjab kesari delhi jahangirpuri violence

उत्तर पश्चिमी दिल्ली के हिंसाग्रस्त जहांगीरपुरी इलाके में शोभायात्रा निकाले जाने के दौरान की जो तस्वीरें सामने आई हैं, वो ये सवाल उठा रही हैं कि क्या हिंसा सोची-समझी साजिश थी? हिंसा की घटना में आठ पुलिसकर्मियों और एक नागरिक सहित नौ लोग घायल

नेशनल डेस्क: उत्तर पश्चिमी दिल्ली के हिंसाग्रस्त जहांगीरपुरी इलाके में शोभायात्रा निकाले जाने के दौरान की जो तस्वीरें सामने आई हैं, वो ये सवाल उठा रही हैं कि क्या हिंसा सोची-समझी साजिश थी? हिंसा की घटना में आठ पुलिसकर्मियों और एक नागरिक सहित नौ लोग घायल हो गए थे। इस मामले में अभी तक कुल 25 लोगों को पकड़ा गया है। इनमें दो किशोर भी शामिल हैं। पुलिस ने इस मामले में एक आरोपी एवं विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के एक स्थानीय नेता प्रेम शर्मा से पूछताछ की और बाद में उसे छोड़ दिया। पुलिस के अनुसार, वह 200 से अधिक वीडियो की पड़ताल कर रहे हैं ताकि उन लोगों की पहचान की जा सके जो हिंसा के पीछे थे। अस्थाना ने कहा कि 16 अप्रैल की झड़पों की जांच के लिए 14 टीमों का गठन किया गया है।

30 नंबर की होगी पड़ताल
जानकारी के मुताबिक, क्राइम ब्रांच की टीम 30 फोन नंबर की पड़ताल करने में भी जुटी है। बताया जा रहा है कि ये 30 नंबर अंसार, असलम, और सोनू से जुड़े हैं। इन नबंरों की लोकेशन से लेकर कॉल डिटेल रिकॉर्ड को बारिकी से खंगाला जाएगा जिससे माना जा रहा है कि जहांगीरपुरी हिंसा का पूरा सच सामने आ सकता है। जहांगीरपुरी हिंसा से जुड़ी हर कड़ी को खंगाला जा रहा है। क्राइम ब्रांच की टीम हिंसा के आरोपी अंसार, इमाम शेख और एक नाबालिग आरोपी की हिंसा वाले दिन की लोकेशन से लेकर कॉल डिटेल रिकॉर्ड की पड़ताल कर रही है। जहांगीरपुरी हिंसा से जुड़े  वीडियो, फोटो, सीसीटीवी फुटेज  और लोकल इनपुट के आधार में क्राइम ब्रांच ने करीब 300 उपद्रवियों की पहचान की है। उनकी गिरफ्तारी के लिए  छापेमारी की जा रही है। 

जहांगीरपुरी हिंसा को लेकर अमित शाह ने दिल्ली पुलिस को दिए ये निर्देश
केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली पुलिस को यहां जहांगीरपुरी में हुई हिंसा मामले में शामिल लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश सोमवार को दिए। आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी। हनुमान जयंती पर निकाली गयी शोभायात्रा के दौरान शनिवार को जहांगीरपुरी में दो समुदाय के लोगों के बीच झड़प हो गई थी जिसमें एक आम नागरिक और आठ पुलिसकर्मी घायल हो गए थे। उन्होंने बताया कि केन्द्रीय गृह मंत्री ने दिल्ली पुलिस को कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। दिल्ली पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना ने सोमवार को बताया कि हिंसा मामले में अब तक दो समुदायों के 23 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इस मामले की जांच अपराध शाखा को सौंपी गयी है और इसके लिए 14 टीमें बनाई गयी हैं। 

जहांगीरपुरी में ड्रोन से की जा रही है निगरानी
दिल्ली पुलिस ने हनुमान जयंती के पर्व पर निकाली गयी शोभायात्रा के आयोजकों के खिलाफ सोमवार को एक प्राथमिकी दर्ज की। शनिवार को निकाली गई इस शोभायात्रा के दौरान दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में सांप्रदायिक हिंसा फैल गयी थी। क्षेत्र पर कड़ी निगरानी के लिए ड्रोन की मदद ली जा रही है और पुलिस ने राष्ट्रीय राजधानी के अशांत उत्तर-पश्चिम इलाके में सड़कों पर गश्त की। साम्प्रदायिक झड़प को लेकर राजनीतिक दलों के निशाने पर आये दिल्ली पुलिस के आयुक्त राकेश अस्थाना ने सोमवार को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि हिंसक झड़पों में शामिल लोगों को बख्शा नहीं जाएगा, चाहे वे किसी भी वर्ग, पंथ या धर्म के हों। दिल्ली पुलिस ने झड़पों के दो दिन बाद स्वीकार किया कि हिंदू संगठनों द्वारा आयोजित तीसरी हनुमान जयंती शोभायात्रा को प्रशासनिक अनुमति नहीं दी गई थी। पुलिस ने सोनू नाम के एक व्यक्ति को गिरफ्तार भी किया जिसने कथित तौर पर पुलिस पर गोलियां चलाई थीं। हिंसा की घटना में आठ पुलिसकर्मियों और एक नागरिक सहित नौ लोग घायल हो गए थे।

हिंसा के बाद जहांगीरपुरी इलाके में पुलिस बल तैनात
उत्तर पश्चिमी दिल्ली के हिंसाग्रस्त जहांगीरपुरी इलाके में बड़ी संख्या में सुरक्षा बल के जवानों को तैनात किया गया है, इनमें दंगा रोधी बल के जवान भी शामिल हैं। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि चौबीस घंटे क्षेत्र में 500 से अधिक पुलिसकर्मी और अतिरिक्त बलों की छह कंपनियां तैनात हैं। अधिकारी ने बताया कि कुल 80 आंसू गैस दल और पानी की बौछार करने वाले दलों को तैनात किया गया है। संवेदनशील इलाकों में छतों की निगरानी के लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया जा रहा है। किसी भी अप्रिय स्थिति से बचने के लिए सभी वरिष्ठ अधिकारियों को घटनास्थल पर मौजूद रहने के निर्देश दिए गए हैं। दिल्ली पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना ने एक समाचार चैनल से बातचीत में कहा, ‘‘हमने न सिर्फ जहांगीरपुरी में, बल्कि अन्य क्षेत्रों में भी पर्याप्त बल तैनात किया है। हम निगरानी के लिए प्रौद्योगिकी का उपयोग करेंगे और हालात की निगरानी यह सुनिश्चित करने के लिए कर रहे हैं कि भविष्य में कोई अप्रिय घटना न हो।'' क्षेत्र में तैनाती के बारे में पूछे जाने पर अस्थाना ने कहा कि जब तक स्थिति सामान्य नहीं हो जाती , जहांगीरपुरी सहित संवेदनशील इलाकों में यह कवायद जारी रहेगी। 

Related Story

Test Innings
England

India

Match will be start at 01 Jul,2022 04:30 PM

img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!