उदयपुर कांड में अहम खुलासा: हत्यारों ने घर में घुसकर कन्हैयालाल की हत्या की थी प्लानिंग, नहीं मिला था पता

Edited By Anil dev,Updated: 01 Jul, 2022 12:28 PM

national news punjab kesari delhi udaipur kanhaiyalal

उदयपुर की एक स्थानीय अदालत ने दर्जी कन्हैयालाल की हत्या के दोनों आरोपियों को 13 जुलाई तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया

नेशनल डेस्क: उदयपुर की एक स्थानीय अदालत ने दर्जी कन्हैयालाल की हत्या के दोनों आरोपियों को 13 जुलाई तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया। एक अधिकारी ने यह जानकारी देते हुए बताया कि मंगलवार को दर्जी कन्हैयालाल की हत्या के दोनों आरोपी रियाज अख्तरी और गौस मोहम्मद को एक पुलिस वैन में अदालत लाया गया । उन्होंने बताया कि दोनों अपराधियों के चेहरे ढके हुए थे और उन्हें कड़ी सुरक्षा के बीच अदालत में पेश किया गया। वहीं उदयपुर कांड में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है।

दुकान के बजाय घर में घुसकर हमला करने की प्लानिंग की थी
राजस्थान के उदयपुर में बीते मंगलवार को दर्जी कन्हैयालाल के हत्यारों ने दुकान के बजाय उनके घर में घुसकर हमला करने की प्लानिंग की थी। हालांकि जब हत्यारों को उनके घर का पता नहीं मिला तो दुकान में जाकर बेरहमी से कन्हैयालाल का सिर काट डाला। जानकारी के मुताबिक, सोशल मीडिया पोस्ट को लेकर धमकी मिलने के बाद कन्हैयालाल ने अपनी दुकान बंद कर दी थी। दूसरी ओर गौस मोहम्मद और मोहम्मद रियाज कन्हैया पर हमला करने के लिए उसे खोज रहे थे। इस दौरान दोनों अपराधियों को लगा कि दुकान पर कन्हैयालाल पर हमला करना आसान होगा। इसके बाद उन्होंने हमला करने का समय तय किया और आगे की प्लानिंग की। 

मुख्यमंत्री ने कन्हैयालाल के घर पहुंचकर पीड़ित परिवार से मुलाकात की
वहीं राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने उदयपुर में हमले में मारे गए दर्जी कन्हैयालाल के घर पहुंचकर पीड़ित परिवार को ढांढस बंधाया। गहलोत ने कन्हैयालाल की तस्वीर पर पुष्पांजलि अर्पित की और शोकाकुल परिजनों से मिलकर उनका ढांढस बंधाया। मुख्यमंत्री ने उनके पुत्र यश और तरूण को सांत्वना दी और कहा कि दुख की इस घड़ी में सरकार उनके साथ है। मुख्यमंत्री ने कन्हैयालाल की पत्नी जशोदा से बात की और परिवारजनों को भरोसा दिलाया कि इस घटना में राज्य सरकार पूरी तरह सुनिश्चित करेगी कि पीडि़त परिवार को त्वरित न्याय मिले और अपराधियों को कठोरतम दंड मिले। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार इसके लिए प्रतिबद्ध है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के निर्देश पर गृह राज्य मंत्री राजेन्द्र यादव ने जशोदा को राज्य सरकार की ओर से 50 लाख रुपये की सहायता राशि प्रदान की। गहलोत ने इस दौरान मीडिया से बातचीत में कहा कि दोनों आरोपियों को पुलिस कस्टडी में लेकर उच्च स्तरीय जांच की जा रही है। 

गहलोत ने राजसमंद के भीम कस्बे में तलवार के हमले से घायल हुए पुलिस कांस्टेबल संदीप कुमार को हेड कांस्टेबल के पद पर पदोन्नति और 10 लाख रूपये मुआवजा देने की घोषणा की। मुख्यमंत्री कन्हैयालाल के घायल साथी ईश्वर गौड़ से मिलने महाराणा भूपाल चिकित्सालय पहुंचे। उन्होंने गौड़ से घटना के बारे में जानकारी ली और उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की। उन्होंने गौड़ की पत्नी और बेटे से भी बातचीत कर राज्य सरकार की ओर से हरसंभव सहायता का आश्वासन दिया। उन्होंने परिजनों की मांग पर परिवार को विशेष सुरक्षा प्रदान करने के लिए पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए। इस मौके पर गृह राज्य मंत्री राजेन्द्र सिंह यादव, जिला प्रभारी एवं राजस्व मंत्री रामलाल जाट पूर्व मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा, मुख्य सचिव उषा शर्मा, महानिदेशक पुलिस एम.एल. लाठर, संभागीय आयुक्त राजेन्द्र भट्ट सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे। 

मुख्यमंत्री ने उदयपुर में एक बैठक में कहा कि कानून-व्यवस्था का उल्लंघन करने वाले व्यक्तियों के विरूद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए। चाहे वह किसी भी जाति, धर्म, वर्ग या दल का क्यों न हो। एक अधिकारी ने बताया कि उदयपुर में कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए पुलिस बल का प्रबंध किया गया है और दो अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक, एक उपमहानिरीक्षक, और अन्य वरिष्ठ अधिकारी स्थिति पर निगरानी बनाये हुए है। दर्जी की हत्या के विरोध में बृहस्पतिवार को निकाली गई रैली में हजारों की संख्या में लोगों ने भाग लिया। जिला प्रशासन की अनुमति से हिन्दू संगठन ‘सर्व हिन्दू समाज' ने रैली निकाली। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक दिनेश एमएन जो उदयपुर में मौजूद है ने बताया कि रैली के लिये अनुमति प्रदान की गई थी और रैली के रास्ते के लिए कर्फ्यू में ढील दी गई थी। 

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!