सामने आई पोस्टमार्टम रिपोर्ट: कन्हैयालाल पर 26 वार, 13 जगह काटा, क्रूरता से किया गया कत्ल

Edited By Anil dev,Updated: 29 Jun, 2022 02:18 PM

national news punjab kesari udaipur kanhaiyalal post mortem

उदयपुर में मंगलवार को दो युवकों द्वारा एक दर्जी कन्हैयालाल की उसकी दुकान में नृशंस हत्या करने के बाद बुधवार को मृतक के शव का पोस्टमार्टम किया गया और फिर अंतिम संस्कार के लिये परिजनों को सौंप दिया गया।

नेशनल डेस्क; उदयपुर में मंगलवार को दो युवकों द्वारा एक दर्जी कन्हैयालाल की उसकी दुकान में नृशंस हत्या करने के बाद बुधवार को मृतक के शव का पोस्टमार्टम किया गया और फिर अंतिम संस्कार के लिये परिजनों को सौंप दिया गया। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच कन्हैयालाल की शवयात्रा सेक्टर 14 स्थित उनके निवास से शमशान घाट के लिये रवाना हुई जिसमें बड़ी संख्या में स्थानीय लोग मौजूद थे। इस बीच पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से हमलावरों की क्रूरता सामने आई है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के मुताबिक कातिलों ने धारदार हथियारों से कन्हैया पर 26 वार किए थे। उनके शरीर पर 13 कट के गहरे घाव पाए गए हैं। इनमें से अधिकतर गर्दन के आसपास हैं। बताया जा रहा है कि गर्दन को शरीर से अलग करने की पूरी कोशिश की गई थी।

कन्हैया का किया गया अंतिम संस्कार
राजस्थान के उदयपुर में कन्हैया लाल का उनकी हत्या के दूसरे दिन आज यहां अंतिम संस्कार कर दिया गया। उदयपुर में दर्जी का काम कर रहे कन्हैयालाल की मंगलवार को दो व्यक्तियों ने कपड़े का नाप देने के बहाने घुसकर धारदार हथियार से हत्या कर दी थी। इसके बाद उदयपुर तनाव व्याप्त हो गया और सात थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगा दिया गया था। घटना के बाद कन्हैया लाल के शव को लेकर प्रदर्शन शुरु कर दिया था बाद में उनके अंतिम संस्कार को लेकर प्रशासन एवं पुलिस ने प्रयास किया और उनके आश्रितों को राज्य सरकार के 31 लाख का मुआवजा देने एवं संविदा पर नौकरी देने के आश्वासन के बाद आज दोपहर में उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया।

अंतिम संस्कार में लोगों की भारी भीड़ शामिल हुई और वह आरोपियों को सख्त से सख्त फांसी की सजा देने की मांग कर रही थी। इससे पहले पोस्टमाटर्म के बाद कन्हैयालाल का शव घर ले जाया गया, तो घर में कोहराम मच गया। उनकी पत्नी जशोदा ने कहा कि हत्यारों को फांसी की सजा दी जाए, नहीं तो ये लोग कई लोगों को मारेंगे। घटना के विरोध में पूरा शहर बंद है। मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस बल भी तैनात हैं।

 गृह मंत्रालय ने एनआईए को जांच अपने हाथ में लेने का दिया निर्देश 
केंद्र ने उदयपुर में दर्जी की हत्या की घटना को एक आतंकवादी कृत्य मानते हुए बुधवार को राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) को मामले की जांच अपने हाथ में लेने और इसमें किसी भी संगठन या अंतरराष्ट्रीय संलिप्तता का पता लगाने का निर्देश दिया है। गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा, ‘‘ गृह मंत्रालय ने एनआईए को राजस्थान के उदयपुर में हुई कन्हैया लाल तेली की नृशंस हत्या की जांच करने का निर्देश दिया है।'' उन्होंने कहा, ‘‘ किसी भी संगठन और अंतरराष्ट्रीय संलिप्तता की गहन जांच की जाएगी।'' मामले की प्रारंभिक जांच में राजस्थान पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए दो आरेापियों के आतंकवादी संगठन आईएसआईएस से प्रभावित होने की बात सामने आने के बाद गृह मंत्रालय ने मंगलवार रात ही एक जांच दल को उदयपुर रवाना कर दिया था। 

आरोपियों ने बनाया इस कृत्य का मोबाइल फोन से वीडियो 
उदयपुर शहर में मंगलवार को उस समय तनाव व्याप्त हो गया था कि जब रियाज़ अख्तरी ने एक धारदार हथियार से तेली का कथित तौर पर गला काट दिया और दूसरे शख्स गौस मोहम्मद ने इस कृत्य का मोबाइल फोन से वीडियो बनाया था।  सोशल मीडिया पर आए इस वीडियो में, कथित हमलावरों में से एक ने घोषणा की कि उन्होंने उस व्यक्ति का ‘‘सिर कलम कर दिया'' । उसने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धमकी देते हुए कहा था कि ‘‘यह हथियार उन तक भी पहुंच सकता है।'' धमकी देते समय आरोपी खून से सना धारदार हथियार लहराता हुआ नजर आ रहा था। दोनों ही आरोपियों को गिरफ्तार कर उनसे पूछताछ की जा रही है। पूछताछ किस जगह की जा रही है, इसकी जानकारी अभी नहीं दी गई है। ए

क वरिष्ठ अधिकारी ने नाम उजागर ना करने की शर्त पर मंगलवार को बताया था, ‘‘ प्रथम दृष्टया, यह एक आतंकवादी कृत्य प्रतीत होता है और इसकी गहन जांच की जरूरत है। उनके सोशल मीडिया अकाउंट की छानबीन भी जाएगी।'' अख्तरी के संबंध पाकिस्तान स्थित दावत-ए-इस्लामी से होने के संकेत मिले हैं, जिसकी भारत में भी शाखाएं हैं। दावत-ए-इस्लामी के कुछ गुर्गे 2011 में पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के गवर्नर सलमान तासीर की हत्या सहित कई आतंकवादी कृत्यों में शामिल पाए गए हैं।

आतंकवादी संगठनों, खासकर आईएसआईएस और अल-कायदा में सिर कलम करना आम है। यह चलन 2014 के बाद से बढ़ गया है, जब आईएसआईएस ने कई विदेशियों का सिर कलम कर उनकी हत्या कर दी थी और इसका वीडियो सोशल मीडिया पर साझा किया था। जम्मू-कश्मीर में भी 1995 में आतंकवादी संगठन हरकत-उल-अंसार के एक आतंकवादी ने विदेशी पर्यटक हंस आस्त्रो का सिर कलम कर दिया था। आस्त्रो का शव 13 अगस्त 1995 को पहलगाम के पास मिला था।

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!