महिला ने पार्थ चटर्जी पर फेंकी चप्पल, बोली- सिर में लगती तो ज्यादा खुशी होती

Edited By Anil dev,Updated: 02 Aug, 2022 05:45 PM

national news punjab kesari west bengal trinamool congress

पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के निलंबित नेता और कथित शिक्षक भर्ती घोटाले से जुड़े धनशोधन के मामले में गिरफ्तार पार्थ चटर्जी पर मंगलवार को कोलकाता के आमताला इलाके में एक महिला ने जूता फेंका। यह घटना उस समय हुई, जब प्रवर्तन निर्देशालय...

नेशनल डेस्क: पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के निलंबित नेता और कथित शिक्षक भर्ती घोटाले से जुड़े धनशोधन के मामले में गिरफ्तार पार्थ चटर्जी पर मंगलवार को कोलकाता के आमताला इलाके में एक महिला ने जूता फेंका। यह घटना उस समय हुई, जब प्रवर्तन निर्देशालय (ईडी) के अधिकारी उन्हें अपनी सुरक्षा में अस्पताल से बाहर लेकर आ रहे थे। हालांकि, जूता चटर्जी को नहीं लगा। 

घटना को अंजाम देने वाली अधेड़ उम्र की महिला शुभ्रा घोरुई ने बताया कि वह ईडी के छापे में चटर्जी की करीबी सहयोगी अर्पिता मुखर्जी के दो फ्लैट से करीब 50 करोड़ रुपये की नकदी और गहने मिलने से नाराज थी। महिला ने कहा, ‘‘ मैं (पार्थ) चटर्जी को अपने जूतों से मारने आई थी। मुझे सोच नहीं सकती कि उसने एक के बाद एक अपार्टमेंट बनाए हैं और इतनी राशि जमा कर रखी है, जब लोग सड़कों पर बेरोजगार घूम रहे हैं। लोगों को धोखा देने के बाद वह वातानुकूलित कार में घूम रहे हैं।

उन्हें रस्सी से बांधकर घसीटना चाहिए...मैं नंगे पांव घर जाऊंगी।'' महिला ने कहा, 'मैं उसके पर अपना जूता फेंकने आई थी। उसने गरीब लोगों से पैसे लिए हैं। मुझे ज्यादा खुशी होती अगर जूता उसके सिर पर लग जाता।' महिला द्वारा पार्थ पर हुए इस चप्पल हमले को लेकर सोशल मीडिया पर कई तरह की प्रतिक्रियाएं सामने आने लगी हैं। 

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘ यह केवल मेरा आक्रोश नहीं, बल्कि पश्चिम बंगाल के लाखों लोगों का गुस्सा है।'' इस घटना के बाद चटर्जी को ईडी के सुरक्षाकर्मी वाहन में बैठाकर अस्पताल परिसर से ले गए। महिला ने कहा, ‘‘मुझे खुशी होती, अगर जूता उन्हें लगता। मैं अपने जूते वापस लेकर नहीं जाऊंगी।'' गौरतलब है कि करोड़ों रुपये के कथित शिक्षक भर्ती घोटाले से जुड़े मामले में ईडी ने चटर्जी और मुखर्जी को 23 जुलाई को गिरफ्तार किया था। 

चटर्जी को मंगलवार को ईडी अधिकारी चिकित्सा जांच के लिए जोका स्थित ईएसआई अस्पताल ले गए। इस दौरान पुलिस ने कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की थी। चटर्जी गिरफ्तारी के समय पश्चिम बंगाल के उद्योग मंत्री थे, जबकि कथित घोटाले के समय राज्य के शिक्षामंत्री थे। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गिरफ्तारी के बाद चटर्जी को अपने मंत्रिमंडल से हटा दिया था। 

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!