प्रधानमंत्री देश हित, गौरव के अलावा किसी और बात की चिंता नहीं करते: शाह

Edited By Pardeep,Updated: 08 Aug, 2022 11:31 PM

pm does not worry about anything other than country s interest pride shah

केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने सोमवार को कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी एक ऐसे एक आदर्शवादी नेता हैं जो देश के हित और गौरव के अलावा किसी और बात की चिंता नहीं करते। उन्होंने

नई दिल्लीः केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने सोमवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एक ऐसे एक आदर्शवादी नेता हैं जो देश के हित और गौरव के अलावा किसी और बात की चिंता नहीं करते। उन्होंने देश में लोकतंत्र की जड़ों को पाताल तक मजबूत करने का काम किया है। 


उड़ीसा चैप्टर के लॉंच पर मुख्य अतिथि गृहमंत्री अमित शाह ने आज अपने भाषण कहा कि मोदी दूरदर्शी नेता हैं जो कभी टुकड़ों में नहीं सोचते बल्कि पूरा सोचते हैं दूर का सोचते हैं और पूरा करते हैं। उन्होंने कहा कि मोदी के अलावा इतनी सादगी के साथ जीने वाला राजनेता मैंने मेरे जीवन में नहीं देखा। 

समर्थ रामदास जी की ‘उपभोग शून्य स्वामी' की कल्पना को इस युग में मोदी ने चरितार्थ करने का काम किया है। इसी कारण से जनता उनका इतना सम्मान करती है। उन्होंने कहा कि मोदी दीपक की लौ की तरह उद्व दिशा में ही सोचते हैं। जब एक व्यक्ति अपने परिवार को भुलाकर, जीवन का क्षण-क्षण और शरीर का कण-कण 130 करोड़ लोगों के कल्याण के लिए समर्पित कर सकता है, तभी नरेंद्र मोदी नाम का व्यक्ति बनता है। 

 

मोदी ने एक कर्मठ कार्यकर्ता के रूप में काम किया। मैं दावे से कह सकता हूँ कि जब भी चुनाव आता है तो देशभर में सबसे ज्यादा परिश्रम नरेंद्र मोदी नाम का कार्यकर्ता करता है। और ऐसा कर्मठ कार्यकर्ता जब पार्टी का नेतृत्व करता है तो चुनावों में विजय सुनिश्चित हो जाती है।  उन्होंने कहा कि वह परिश्रम की पराकाष्ठा करने वाले नेता हैं। मैंने उन्हें कभी थकते हुए नहीं देखा। 

वो कहते हैं कि उन्हें थकान नहीं लगती बल्कि जनता के हित के लिए किए परिश्रम से जब गरीब के चेहरे पर मुस्कान आती है तब हृदय में संतोष का भाव आता है। जब एक व्यक्ति अपने परिवार को भुलाकर, जीवन का क्षण-क्षण और शरीर का कण-कण 130 करोड़ लोगों के कल्याण के लिए समर्पित कर सकता है, तभी नरेंद्र मोदी नाम का व्यक्ति बनता है। 

मोदी के एक स्टेट्समैन के रूप में पेरिस समझौते और दुनिया भर में योग दिवस मनाने के निर्णयों को हमने देखा है। यह बताता है कि जब भारत का नेता आत्मविश्वास के साथ दुनिया के मंच पर अपनी बात को रखता है तो इसकी स्वीकृति उतनी ही स्वाभाविक होती है जितनी बड़े से बड़े देश के नेता की होती है। 

 

Related Story

Trending Topics

Pakistan

England

Match will be start at 02 Oct,2022 09:30 PM

img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!