मुख्यमंत्री पद से इस्तीफे के बाद राज ठाकरे ने उद्धव ठाकरे पर निशाना साधा, जानें क्या बोले?

Edited By rajesh kumar,Updated: 30 Jun, 2022 06:55 PM

raj thackeray targets uddhav thackeray after resigning as chief minister

उद्धव ठाकरे के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के एक दिन बाद बृहस्पतिवार को महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष राज ठाकरे ने उन पर निशाना साधा। हालांकि, राज ने उद्धव का सीधे तौर पर नाम नहीं लिया।

नेशनल डेस्क: उद्धव ठाकरे के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के एक दिन बाद बृहस्पतिवार को महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष राज ठाकरे ने उन पर निशाना साधा। हालांकि, राज ने उद्धव का सीधे तौर पर नाम नहीं लिया। राज ठाकरे ने ट्वीट कर कहा, ‘‘ जब कोई सौभाग्य को अपनी सिद्धि समझ लेता है, तब वहीं से पतन की ओर यात्रा शुरू होती है।''

शिवसेना के वरिष्ठ नेता एकनाथ शिंदे की अगुवाई में कई विधायकों की बगावत के चलते उद्धव ठाकरे को पद से इस्तीफा देना पड़ा। राज ठाकरे ने पिछले महीने लाउडस्पीकर के मुद्दे को लेकर उद्धव ठाकरे से कहा था कि वह (उद्धव) इस मुद्दे पर उनके धैर्य की परीक्षा नहीं लें। राज ठाकरे ने यह भी कहा था कि सत्ता स्थायी नहीं होती।

चौंकाने वाले घटनाक्रम के बीच भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस ने शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे महाराष्ट्र के नये मुख्यमंत्री बनाने का ऐलन किया है। फडणवीस और शिंदे की राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात के बाद यह घोषणा की गई। फडणवीस ने कहा कि मंत्रिमंडल विस्तार के दौरान शिवसेना (बागी विधायक) और भाजपा विधायकों के अलावा कुछ निर्दलीय विधायक मंत्री के तौर पर शपथ लेंगे। उन्होंने कहा कि यह लड़ाई सत्ता के लिए नहीं बल्कि सिद्धांतों और हिंदुत्व की विचारधारा के लिए है। हालांकि, तब तक कयास लगाये जा रहे थे कि एकनाथ के नेतृत्व वाले बागी शिवसेना विधायकों के समर्थन से फडणवीस तीसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। 

शिंदे ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘फडणवीस ने मुझ पर जो भरोसा जताया है, उस पर मैं खरा उतरुंगा।'' पूर्व मुख्यमंत्री फडणवीस ने कहा कि भाजपा शिंदे गुट को अपना समर्थन देगी। भाजपा महाराष्ट्र विधानसभा में सबसे बड़ा दल है। उन्होंने कहा, ‘‘ मैं सरकार से बाहर रहूंगा, हालांकि, सरकार का सुचारू रूप से संचालन सुनिश्चित करूंगा जो उद्धव ठाकरे के इस्तीफे के बाद विकल्प के तौर पर सामने आयी है।'' एकनाथ शिंदे ने कहा कि उन्होंने राज्य के विकास को ध्यान में रखते हुए 50 विधायकों के समर्थन के साथ यह निर्णय (एमवीए सरकार से बगावत) लिया और इसमें उनका कोई निजी हित नहीं है। उन्होंने एमवीए सरकार के संचालन के तौर-तरीकों पर सवाल उठाया और उन्हें मुख्यमंत्री बनने का अवसर देने के लिए फडणवीस का आभार जताया।

 

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!