राजनाथ ने कहा- रक्षा उद्योग को अनुसंधान एवं विकास पर अधिक जोर देना होगा

Edited By Pardeep,Updated: 30 Sep, 2022 10:32 PM

rajnath defense industry will have to give more emphasis on research

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को भारतीय रक्षा उद्योग से कहा कि नई ऊंचाइयों पर पहुंचने के लिए वह नए निवेश करे और अनुसंधान पर ज्यादा जोर दे। पीएचडी चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के 117वें वार्षिक

नई दिल्लीः रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को भारतीय रक्षा उद्योग से कहा कि नई ऊंचाइयों पर पहुंचने के लिए वह नए निवेश करे और अनुसंधान पर ज्यादा जोर दे। पीएचडी चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के 117वें वार्षिक सत्र को संबोधित करते हुए रक्षा मंत्री ने कहा, ‘‘नए निवेश कीजिए, अनुसंधान तथा विकास पर और जोर दें और भारतीय रक्षा उद्योग को नई ऊंचाईयों पर पहुंचाने के लिए पूरी क्षमता का उपयोग करें। आपके ये प्रयास न केवल रक्षा उद्योग के लिए बल्कि देश की वृद्धि के लिए भी महत्वपूर्ण होंगे।'' 

उन्होंने कहा कि भारतीय रक्षा उद्योग में अपार संभावनाएं हैं और यहां तक कि विदेशी कंपनियां भी इन अवसरों को पहचान रही हैं। भारत का रक्षा उद्योग निजी क्षेत्र के साथ साझेदारी में निरंतर प्रगति कर रहा है। एक बयान में सिंह के हवाले से कहा गया, ‘‘पहले निजी क्षेत्र के लिए रक्षा उद्योग में प्रवेश का कोई रास्ता नहीं था, यदि ऐसी कुछ संभावना होती भी तो उद्योग विभिन्न कारणों से रक्षा क्षेत्र में पैर जमाने के लिए तैयार नहीं था।'' 

उन्होंने इसके लिए राजनीतिक इच्छाशक्ति की कमी, प्रवेश को सुगम बनाने के लिए उचित नीति की कमी और अधिक निवेश की जरूरत जैसे बिंदुओं को जिम्मेदार बताया। सिंह ने कहा कि सरकार ने इन अवरोधकों को दूर किया और निजी क्षेत्र के लिए इसे सुगम बनाने का काम किया है। 

उन्होंने कहा कि रक्षा मंत्रालय ने पुराने तौर तरीकों को बदलने और विनिर्माण का ऐसा माहौल बनाने के लिए ‘मेक इन इंडिया' और ‘आत्मनिर्भर भारत' पहलों के तहत कई कदम उठाए हैं जिससे सार्वजनिक और निजी क्षेत्र इसमें हिस्सेदारी कर सकें।

Related Story

Trending Topics

Bangladesh

93/6

23.5

India

Bangladesh are 93 for 6 with 26.1 overs left

RR 3.96
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!