जम्मू-कश्मीर के भद्रवाह में कर्फ़्यू में चार घंटे की ढील, हालात शांतिपूर्ण : अधिकारी

Edited By Monika Jamwal,Updated: 17 Jun, 2022 07:24 PM

relaxation in curfew in bhaderwah

कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए तैनात किए गए अतिरिक्त बलों की मौजूदगी के बीच जम्मू-कश्मीर के डोडा जिले में जुमे की नमाज शांतिपूर्ण जिले से संपन्न हो गई, जिसके बाद जिले के भद्रवाह कस्बे में कर्फ़्यू में चार घंटे की ढील दी गई।

भद्रवाह/जम्मू : कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए तैनात किए गए अतिरिक्त बलों की मौजूदगी के बीच जम्मू-कश्मीर के डोडा जिले में जुमे की नमाज शांतिपूर्ण जिले से संपन्न हो गई, जिसके बाद जिले के भद्रवाह कस्बे में कर्फ़्यू में चार घंटे की ढील दी गई।

 

पैगंबर मोहम्मद के बारे में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की निलंबित प्रवक्ता नुपुर शर्मा की विवादित टिप्पणी और उनके समर्थन में स्थानीय दक्षिणपंथी कार्यकर्ताओं के सोशल मीडिया पोस्ट के विरोध के बीच, भद्रवाह में सांप्रदायिक तनाव पैदा हो गया था, जिसके चलते नौ जून को कस्बे में कर्फ़्यू लागू किया गया था।

 

अधिकारियों ने बताया कि जुमे की नमाज के कुछ ही देर बात अपराह्न तीन बजे से शाम सात बजे तक कर्फ़्यू में ढील दी गई।

 

कफ्र्यू में बृहस्पतिवार को सुबह नौ बजे से दोपहर 12 बजे तक और अपराह्न तीन बजे से शाम पांच बजे तक दो बार ढील दी गई थी तथा इस दौरान शांति रही और कोई अप्रिय घटना नहीं हुई।

 

अधिकारियों ने बताया कि वरिष्ठ पुलिस एवं असैन्य अधिकारियों ने शुक्रवार सुबह हालात का जायजा लिया था और जुमे की नमाज के दौरान किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना से बचने के लिए कोई ढील न देते हुए शहर में कर्फ़्यू लागू रखने का फैसला किया।

 

स्थानीय पुलिस थाने में तीन प्राथमिकियां दर्ज किए जाने के बाद पिछले सप्ताह सांप्रदायिक तनाव फैलाने को लेकर एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया और नौ अन्य को हिरासत में लिया गया। अधिकारियों ने बताया कि भद्रवाह में कई स्थानों पर छापेमारी के बावजूद एक आरोपी फरार है और उसके घर के बाहर उसकी तलाश किए जाने संबंधी नोटिस चिपकाया गया है।

 

'अजुमन-ए-इस्लामिया' ने प्रशासन को पूर्ण सहयोग का आश्वासन देते हुए सांप्रदायिक नफरत फैलाने वालों की गिरफ्तारी की मांग की।

 

धर्मिक समूह के एक पदाधिकारी ने कहा, "अभी तक केवल एक समुदाय के लोगों को गिरफ्तार किया गया है या हिरासत में लिया गया है, लेकिन अन्य समुदायों के उन लोगों को छोड़ दिया गया है, जिन्होंने सोशल मीडिया पोस्ट के माध्यम से लोगों को भड़काया है। उनमें से एक ने अग्रिम जमानत का अनुरोध किया है।"

 

इस बीच, अधिकारियों ने बताया कि जम्मू जिले में भी जुमे की नमाज के बाद सड़कों पर प्रदर्शन नहीं होने देने के निर्देश के साथ मस्जिदों के बाहर भारी संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। पैगंबर की टिप्पणी के खिलाफ पिछले एक हफ्ते में गुर्जर नगर, तालाब खटिकन और बठिंडी सहित शहर के विभिन्न हिस्सों में विरोध प्रदर्शन देखा गया।


 

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!