अग्निपथ पर बवाल: ट्रेनों पर पथराव-आगजनी और रेलवे स्टेशनों पर तोड़फोड़... अब तक 200 ट्रेनें प्रभावित व 35 रद्द

Edited By Seema Sharma,Updated: 17 Jun, 2022 03:31 PM

ruckus on agneepath stone pelting and arson on trains

केंद्र सरकार ने रक्षा सेवाओं के उम्मीदवारों के लिए अग्निपथ योजना की घोषणा के कुछ दिनों बाद ही गुरुवार को उम्मीदवारों के लिए ऊपरी आयु सीमा में दो साल की वृद्धि करने का फैसला किया है।

नेशनल डेस्क: सशस्त्र बलों में भर्ती से संबंधित ‘अग्निपथ' योजना के खिलाफ प्रदर्शन के कारण अब तक 200 से अधिक ट्रेनों का परिचालन प्रभावित हुआ है। रेलवे ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। रेलवे ने कहा कि बुधवार को प्रदर्शन शुरू होने के बाद से 35 ट्रेन रद्द कर दी गईं जबकि 13 का गंतव्य से पहले ही समापन कर दिया गया। प्रदर्शन का सबसे अधिक प्रभाव पूर्व मध्य रेलवे पर पड़ा है जिसके अंतर्गत बिहार, झारखंड और उत्तर प्रदेश के कई हिस्से आते हैं। इन राज्यों में व्यापक स्तर पर प्रदर्शन देखा गया है। ऐसे में पूर्व मध्य रेलवे ने प्रदर्शन के कारण आठ ट्रेनों के परिचालन की निगरानी करने का फैसला भी किया है।

 

अधिकारियों ने बताया कि वे इन ट्रेनों की आवाजाही पर नजर रख रहे हैं और स्थिति के हिसाब से उनके परिचलान के संबंध में निर्णय लेंगे। इन ट्रेनों में 12303 हावड़ा-नई दिल्ली पूर्वा एक्सप्रेस, 12353 हावड़ा-लालकुंआ एक्सप्रेस, 18622 रांची-पटना पाटलिपुत्र एक्सप्रेस, 18182 दानापुर-टाटा एक्सप्रेस, 22387 हावड़ा-धनबाद ब्लैक डायमंड एक्सप्रेस, 13512 आसनसोल -टाटा एक्सप्रेस, 13032 जयनगर-हावड़ा एक्सप्रेस और 13409 मालदा टाउन-किऊल एक्सप्रेस शामिल हैं। पूर्व मध्य रेलवे की दो ट्रेन 12335 मालदा टाउन-लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस और 12273 हावड़ा-नई दिल्ली दूरंतो एक्सप्रेस रद्द कर दी गयी हैं। रद्द कर गयी अन्य ट्रेनों का ब्योरा तत्काल उपलब्ध नहीं है।

 

रेलवे ने कहा कि पूर्व मध्य के क्षेत्राधिकार से उत्तर सीमांत रेलवे की कई ट्रेन गुजरती हैं और उनमें से तीन प्रभावित हुई है। प्रदर्शनकारियों ने पूर्व मध्य रेलवे की तीन ट्रेनों और एक खाली ट्रेन को नुकसान पहुंचा। उत्तर प्रदेश के बलिया में धुलाई लाइन पर खड़ी एक ट्रेन के एक डिब्बे को भी क्षति पहुंचाई गई। रेलवे अधिकरियों ने बताया कि फिलहाल अचल संपत्तियों को पहुंचे नुकसान का आकलन करना मुश्किल है। बलिया में प्रदर्शनकारी युवाओं ने ‘भारत माता की जय' एवं‘ अग्निपथ वापस लो' जैसे नारे लगाते हुए एक खाली ट्रेन में आग लगा दी और कुछ अन्य ट्रेनों में तोड़फोड़ की। इसके बाद पुलिस को उन पर लाठीचार्ज करना पड़ा। सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन पर प्रदर्शनकारियों द्वारा तोड़फोड़ करने और ट्रेन में आग लगाने की भी खबर आई है। व 29 से अधिक यात्री ट्रेनें रद्द की गई हैं। 

 

रेलवे को हो रहा भारी नुकसान
रेलवे अधिकारियों ने बताया है कि अभी नुकसान का आकलन करना मुश्किल होगा। ईस्टर्न सेंट्रल रेलवे की तीन रनिंग ट्रेनों कोच को नुकसान पहुंचा गया है। अग्निपथ योजना का विरोध करते हुए युवाओं ने लखमीनिया रेलवे स्टेशन पर भी तोड़फोड़ की और रेलवे ट्रैक को ब्लॉक कर दिया। बिहार के आरा में कुल्हड़िया स्टेशन पर खड़ी पैसेंजर ट्रेन में उपद्रवियों ने आग लगा दी। युवाओं ने लोहिया नगर चौक ढाला के पास ट्रेन को रोक कर प्रदर्शन किया, फिर वहां ट्रेन में आग लगा दी। वहीं, पटना के दीनदयाल उपाध्याय मेन लाइन पर आगजनी कर परिचालन को बाधित कर दिया। इसके अलावा, यूपी के बलिया रेलवे स्टेशन पर भी प्रदर्शनकारियों ने जमकर विरोध किया।

 

परेशान हुए यात्री
युवाओं के प्रदर्शन के चलते रेल यात्री काफी परेशान हैं। यात्रियों को घंटों ट्रेनों का इंतजार करना पड़ रहा है। इतना ही नहीं पंडित दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन पर भी सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है।

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!