शुभेंदु अधिकारी ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर लगाया आरोप, बंगाल सरकार कर रही केंद्रीय धन का दुरुपयोग

Edited By Pardeep,Updated: 06 Aug, 2022 11:24 PM

shubhendu adhikari alleges by writing a letter to the pm

पश्चिम बंगाल विधानसभा में विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र लिखकर आरोप लगाया कि राज्य सरकार आवास और ग्रामीण रोजगार कार्यक्रम सहित

कोलकाताः पश्चिम बंगाल विधानसभा में विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र लिखकर आरोप लगाया कि राज्य सरकार आवास और ग्रामीण रोजगार कार्यक्रम सहित अन्य योजनाओं के तहत मिले केंद्रीय धन का दुरुपयोग कर रही है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के राष्ट्रीय राजधानी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात के एक दिन बाद यह पत्र लिखा गया। ममता ने प्रधानमंत्री से केंद्रीय धन को तत्काल जारी करने की मांग की थी। 

अधिकारी ने अपने पत्र में लिखा, ‘‘पश्चिम बंगाल के लोग केंद्र सरकार के धन की हेराफेरी से परेशान और थके हुए हैं और मैं उनकी ओर से आपको बताना चाहता हूं कि उचित नियंत्रण और संतुलन होना चाहिए और अब तक दी गई राशि का हिसाब होना चाहिए।'' 

बनर्जी ने शुक्रवार को मोदी से मुलाकात की थी और अपने राज्य से संबंधित कई मुद्दों को उठाया था, जिसमें ग्रामीण रोजगार योजना (मनरेगा), प्रधानमंत्री आवास योजना (पीएमएवाई), और प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना (पीएमजीएसवाई) शामिल है। बनर्जी ने कहा था कि इन योजनाओं के तहत राज्य को लगभग 17,996.32 करोड़ रुपए की राशि देय है। लेकिन अधिकारी ने पत्र में कहा कि पूरे पश्चिम बंगाल में हर दिन कदाचार की कई घटनाएं सामने आ रही हैं। 

अधिकारी ने कहा, ‘‘अक्सर खबरें सामने आती रहती हैं कि लोक कल्याण के लिए इन योजनाओं के माध्यम से दिए गए धन को ठगने और भ्रष्टाचार के नए-नए तौर-तरीके अपनाए जा रहे हैं।'' अधिकारी ने तृणमूल कांग्रेस छोड़ दी थी और विधानसभा चुनाव से पहले दिसंबर 2020 में भाजपा में शामिल हो गए थे। अधिकारी ने दावा किया कि करोड़ों रुपए गबन करने का एक नया तरीका मिल गया है और मनरेगा के कोष का इस्तेमाल पौधे लगाने के लिए किया जा रहा है।

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!