दिल्ली में अतिक्रमण पर सियासत तेज, मनीष सिसोदिया ने गृहमंत्री को पत्र लिखकर कहा- बुलडोजर पर रोक लगाए सरकार

Edited By Yaspal, Updated: 13 May, 2022 06:00 PM

sisodia wrote a letter to the hm saying  government should stop bulldozers

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को एक पत्र लिखकर उनसे राष्ट्रीय राजधानी में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) शासित तीन नगर निकायों द्वारा चलाए जा रहे अतिक्रमण रोधी अभियान के कारण शहर में हो रही ‘‘तोड़-फोड़'''' को...

नई दिल्लीः दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को एक पत्र लिखकर उनसे राष्ट्रीय राजधानी में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) शासित तीन नगर निकायों द्वारा चलाए जा रहे अतिक्रमण रोधी अभियान के कारण शहर में हो रही ‘‘तोड़-फोड़'' को रोकने का आग्रह किया है। सिसोदिया ने एक ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन में भाजपा पर उनकी ‘‘बुलडोजर राजनीति'' को लेकर निशाना साधा और दावा किया कि नगर निकायों ने दिल्ली में 63 लाख मकानों को तोड़ने की योजना बनाई है।

सिसोदिया ने कहा, ‘‘ इनमें से 60 लाख मकान विभिन्न अनधिकृत कॉलोनी में हैं, जबकि अन्य तीन लाख ऐसे मकान हैं जिनके छज्जे निश्चित सीमा से बाहर हैं। हमें पता चला है कि इस संबंध में नोटिस भी भेज दिए गए हैं।'' उन्होंने कहा, ‘‘ वे राष्ट्रीय राजधानी में व्यापक स्तर पर तोड़-फोड़ करने वाले हैं। दिल्ली की करीब 70 प्रतिशत आबादी बेघर हो जाएगी।'' उन्होंने कहा ‘‘आम आदमी पार्टी इस तोड़-फोड़ अभियान का विरोध करती है और मैंने इस संबंध में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर उनसे मामले में हस्तक्षेप करने का आग्रह किया है।'' उन्होंने कहा कि इसे रोकने के लिए जेल भी जाना पड़ा, तो वे तैयार हैं।

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘ मैंने उन्हें पत्र लिखकर कहा है कि इसे (तोड़-फोड़ अभियान को) रोका जाना चाहिए। अगर बुलडोजर चलाने हैं, तो उन्हें भाजपा के नेताओं तथा नगर निकाय प्रतिनिधियों के आवास पर चलाएं, जिन्होंने ऐसे निर्माण की अनुमति देने के लिए रिश्वत ली थी।'' सिसोदिया ने पत्र में दावा किया कि शहर में 1,750 अनधिकृत कॉलोनी हैं, जहां लगभग 50 लाख लोग रहते हैं, जबकि 860 झुग्गी-झोपड़ी इलाके हैं, जहां करीब 10 लाख लोग रहते हैं।

सिसोदिया ने कहा, ‘‘ दिल्ली में भाजपा इन कॉलोनी पर बुलडोजर चलाने की योजना बना रही है। हर दिन, एक बुलडोजर के साथ कुछ भाजपा नेता इन कॉलोनी में पहुंच जाते हैं।'' उन्होंने कहा, ‘‘ इसके अलावा अनधिकृत और डीडीए (दिल्ली विकास प्राधिकरण) कॉलोनी में रहने वाले तीन लाख लोगों को अपनी बालकनी के छज्जे कम करने आदि के लिए नोटिस भेजे गए हैं। सच तो यह है कि दिल्ली में ऐसा कोई घर नहीं है, जहां बदलाव नहीं किया गया हो।'' उन्होंने आरोप लगाया कि पिछले 17 साल में, नगर निकायों के पार्षदों, अधिकारियों तथा महापौरों ने झुग्गियां बनाने की अनुमति देने और अनधिकृत कॉलोनी में जमीन दिलवाने के लिए रिश्वत ली। उन्होंने कहा कि अब जब नगर निकायों में भाजपा के शासन के खत्म होने का खतरा मंडरा रहा है, तो वे लोगों के घरों को बर्बाद करने की कोशिश कर रहे हैं।

सिसोदिया ने कहा, ‘‘ मैं आपसे (शाह से) विनती करता हूं कि भाजपा नेताओं से बुलडोजर का इस्तेमाल करके ऐसी खतरनाक राजनीति ना करने और इन अवैध निर्माणों के लिए अनुमति देने वालों की जवाबदेही तय करने को कहें।'' उन्होंने कहा कि जब तक जवाबदेही तय नहीं हो जाती, तब तक ‘‘बुलडोजर राजनीति'' पूरी तरह बंद होनी चाहिए। गौरतलब है कि दिल्ली के मदनपुर खादर में बृहस्पतिवार को अतिक्रमण रोधी अभियान के दौरान विरोध-प्रदर्शन और पथराव हुआ था, जहां स्थानीय लोगों ने कानूनी मान्यता प्राप्त ढांचों को भी बुलडोजर से गिरा दिए जाने का दावा किया। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि दक्षिण-पूर्वी दिल्ली इलाके में विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लेने वाले आप के विधायक अमानतुल्लाह खान को लोक सेवकों को उनके कर्तव्य का निर्वहन करने से रोकने और दंगा करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया हे।

Related Story

Trending Topics

Indian Premier League
Lucknow Super Giants

Royal Challengers Bangalore

Match will be start at 25 May,2022 07:30 PM

img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!