उदयपुर हत्याकांड: कन्हैया की हत्या के बाद जिस बाइक से भागे थे आरोपी, उसका मुंबई हमले के साथ कनेक्शन

Edited By Seema Sharma,Updated: 30 Jun, 2022 11:11 AM

udaipur murder the bike of accused has a connection with mumbai attack

उदयपुर में दर्जी कन्हैयालाल की हत्या में दोनों आरोपियों का पाकिस्तान कनेक्शन सामने आया है। राजस्थान के गृह राज्य मंत्री राजेंद्र यादव ने इसकी पुष्टि की। उन्होंने कहा कि यह मामला दो धर्मों की लड़ाई का नहीं

नेशनल डेस्क: उदयपुर में दर्जी कन्हैयालाल की हत्या में दोनों आरोपियों का पाकिस्तान कनेक्शन सामने आया है। राजस्थान के गृह राज्य मंत्री राजेंद्र यादव ने इसकी पुष्टि की। उन्होंने कहा कि यह मामला दो धर्मों की लड़ाई का नहीं, बल्कि आतंकी हमला है। दो में से एक आरोपी गौस मोहम्मद साल 2014-15 में 45 दिन कराची में ट्रेनिंग लेकर आया है। गौस साल 2018-19 में अरब देशों में गया था। पिछले साल नेपाल में उसकी लोकेशन सामने आई। ऐसे में आरोपी गौस मोहम्मद का कनेक्शन सीधे तौर पर पाकिस्तान से जुड़ा है।

 

इस बीच एक और बड़ी बात सामने आई है। भाजपा नेता नुपूर शर्मा मामले में हत्या की धमकी और हत्या का वीडियो आरोपी गौस मोहम्मद ने ही डाला था। हत्या के बाद उदयपुर से अजमेर भाग रहे दोनों आरोपी अजमेर में एक और वीडियो बनाना चाहते थे। वीडियो बनाने का आइडिया पाकिस्तानी हैंडलर ने दिया था ताकि ज़्यादा दहशत फैले। वहीं कन्हैया लाल की हत्या के बाद मोहम्मद रियाज और गौस मोहम्मद जिस मोटरसाइकिल से भाग रहे थे उसका नंबर 2611 था, जो मुंबई हमले की तारीख है।

 

पिता की मौत पर भी नहीं आया रियाज
उदयपुर में दर्जी कन्हैयालाल की हत्या के मुख्य आरोपियों में से एक मोहम्मद रियाज उदयपुर के परकोटे में एक दुकान पर वेल्डर के रूप में काम करता था। पुलिस सूत्रों ने बताया कि वह एक स्थानीय मस्जिद में भी काम करता था और धार्मिक प्रचार में शामिल रहता था। उन्होंने कहा कि रियाज 12 जून को अपनी पत्नी और दो बच्चों के साथ किराए के मकान में रहने गया था। मकान मालिक मोहम्मद उमर ने कहा, ‘‘मैं उससे कभी नहीं मिला। रियाज की पत्नी ने किराये के आवास के लिए मेरी पत्नी से संपर्क किया था। मैंने पहचान पत्र मांगा था लेकिन उन्होंने मुझे नहीं दिया। परिवार ने घटना से पहले 28 जून को मकान खाली कर दिया था।'' रियाज मूल रूप से भीलवाड़ा के आसींद कस्बे का रहने वाला है और वह उदयपुर में एक दुकान में वेल्डर के रूप में काम करता था। रियाज पिछले 20 साल से भीलवाड़ा नहीं गया। उसने 2002 में आसींद छोड़ दिया था तथा पिछले साल अपने पिता के निधन पर भी नहीं आया।

 

पुलिस ने ऐसे आरोपियों को धर दबोचा
दोनों को उदयपुर से 170 किमी दूर भीम से 10 किमी दूर हाईवे पर शाम पांच बजे नाकेबंदी कर रही पुलिस ने धर दबोचा थे। फिलहाल दोनों आरोपियों रियाज और गौस से पूछताछ की जा रही है।

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!