जीरो टॉलरेंस नीति के चलते विजिलेंस की छापेमारी तेज

Edited By Archna Sethi,Updated: 04 Oct, 2022 08:31 PM

vigilance raids intensified due to zero tolerance policy

मुख्यमंत्री  मनोहर लाल की भ्रष्टाचार के प्रति जीरो टॉलरेंस नीति की अनुपालना में राज्य विजिलेंस ब्यूरो ने अपनी छापेमारी तेज की है। इसी कड़ी में ब्यूरो द्वारा सरकार के आदेशों पर जुलाई, 2022 के दौरान दो नई जांचें दर्ज की गई और 18 जांचें पूरी कर अंतिम...

चंडीगढ़, 4 अक्तूबर -(अर्चना सेठी) मुख्यमंत्री  मनोहर लाल की भ्रष्टाचार के प्रति जीरो टॉलरेंस नीति की अनुपालना में राज्य विजिलेंस ब्यूरो ने अपनी छापेमारी तेज की है। इसी कड़ी में ब्यूरो द्वारा सरकार के आदेशों पर जुलाई, 2022 के दौरान दो नई जांचें दर्ज की गई और 18 जांचें पूरी कर अंतिम रिपोर्ट सरकार को भेजी।
 

ब्यूरो के एक प्रवक्ता ने आज यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि ब्यूरो ने इनमें से दो जांचों में दो राजपत्रित अधिकारी व तीन अराजपत्रित अधिकारियों के विरुद्ध विभागीय कार्रवाई करने का सुझाव दिया है जबकि एक जांच में एक अराजपत्रित अधिकारी के विरुद्ध आपराधिक मुकदमा दर्ज करने का सुझाव दिया है । इसके अलावा, एक जांच में प्लाट को रद्द करने व प्लाट मालिकों के विरुद्ध पंचायती राज विभाग के नियमानुसार कार्रवाई करने की सिफारिश की है।


प्रवक्ता ने बताया कि इसी प्रकार, विभिन्न शिकायतों एवं जाचों के आधार पर ब्यूरो ने भ्रष्टाचार उन्मूलन अधिनियम और भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत 13 अलग-अलग मामलों में 15 प्रथम श्रेणी अधिकारियों,10 द्वितीय श्रेणी अधिकारियों तथा 23 तृतीय श्रेणी के कर्मचारियों व 12 प्राइवेट व्यक्तियों सहित 48 सरकारी अधिकारियों के विरुद्ध मुकद्दमा दर्ज किए हैं।
 

प्रवक्ता ने बताया कि इसी अवधि के दौरान 13 सरकारी अधिकारियों व कर्मचारियों तथा 8 प्राइवेट व्यक्तियों  को  4,000 रुपये से लेकर 65,000 रुपये तक की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार भी किया है। उनमें विद्यानगर, भिवानी के सुभाष अरोड़ा को 65,000 रुपये जिसमें 30,000 रुपये ऑनलाइन माध्यम से व 35,000 रुपये नकद लेते हुए गिरफ्तार किया है।
 

इसी प्रकार, शहरी स्थानीय निकाय विभाग नरवाना, जींद के राजेन्द्र सोनी को 40,000 रुपये, उपायुक्त कार्यालय सोनीपत के अधीक्षक वेद प्रकाश को 20,000 रुपये, हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के कनिष्ठ अभियंता सुनिल मैहला व उत्तरी हरियाणा बिजली वितरण निगम मुरथल, सोनीपत के लाइनमैन/लिपिक सुमेर सिंह को 50,000-50,000 रुपये, हरियाणा खादी ग्राम उद्योग बोर्ड के इंचार्ज तथा कम्प्यूटर ऑपरेटर विनय कुमार को 20,000 रुपये, हरियाणा राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के एल.ए. दिनेश कुमार की ओर से ओल्ड हाउसिंग बोर्ड भिवानी के रमन पंवार को 10,000 रुपये, पुलिस स्टेशन फर्रूखनगर, गुरुग्राम के सहायक उप-निरीक्षक बिजेन्द्र व गांव खेड़ा खर्रमपुर के लाल चंद को 20,000 रुपये, शिव कॉलोनी साहापुरा, बल्लभगढ़, फरीदाबाद के सोम प्रकाश को 14,000 रुपये की रिश्वत लेते हुए पकड़ा जाना शामिल है।  
 

प्रवक्ता ने बताया  कि इसी प्रकार, ब्यूरो ने पुलिस चौकी ग्वाल पहाड़ी, गुरुग्राम के मुख्य सिपाही सुनील, पुलिस चौकी सेक्टर-16 फरीदाबाद के चौकी इंचार्ज उप-निरीक्षक कृष्ण कुमार व सेक्टर-17 फरीदाबाद के उदित वधवा तथा गांव मोहदमका थाना हथीन, पलवल के युसूफ खान को 10,000-10,000 रुपये,  हलका पटवारी, भजाला, तावडू, नूंह के नरेंद्र कुमार को 9,000 रुपये , हलका पटवारी कंडेला जींद के सुनील को 8,000 रुपये, थाना शहर महेन्द्रगढ़ के कार्यकारी उप-निरीक्षक सतपाल को 7,000 रुपये, मनकपुर थाना सदर, अंबाला के गगनदीप को 4,500 रुपये तथा थाना जाटूसाना, रेवाड़ी के उप-निरीक्षक अनिल कुमार को 4,000 रुपये रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ा जाना शामिल है।  

 

Related Story

Trending Topics

New Zealand

India

Match will be start at 30 Nov,2022 08:30 AM

img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!