भारत के अर्थशास्त्री इंदरमीत गिल बने वर्ल्ड बैंक के चीफ इकनॉमिस्ट, दिल्ली से है खास कनैक्शन

Edited By Tanuja,Updated: 27 Jul, 2022 01:31 PM

world bank appoints indian national indermit gill as chief economist

भारत के अर्थशास्त्री इंदरमीत गिल को वर्ल्ड बैंक का चीफ इकनॉमिस्ट बनाया गया है। उनकी नियुक्ति एक सितंबर 2022 से प्रभावी होगी। गिल...

 इंटरनेशनल डेस्कः भारत के अर्थशास्त्री इंदरमीत गिल को वर्ल्ड बैंक का चीफ इकनॉमिस्ट बनाया गया है। उनकी नियुक्ति एक सितंबर 2022 से प्रभावी होगी। गिल इस पद पर नियुक्त होने वाले दूसरे भारतीय हैं। इससे पहले कौशिक बासु 2012 से 2016 तक इस पद पर रहे थे। गिल अभी वर्ल्ड बैंक में इक्विटेबल ग्रोथ, फाइनेंस और इंस्टीट्यूशंस के वाइस-प्रेजिडेंट हैं। 2016 से 2021 के बीच वह ड्यूक यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर ऑफ पब्लिक पॉलिसी और ब्रूकिंग इंस्टीच्यूशन  में ग्लोबल इकॉनमी एंड डेवलपमेंट प्रोग्राम में नॉन-रेजिडेंट सीनियर फेलो रहे।

 

गिल को चीफ इकनॉमिस्ट के साथ-साथ डेवलपमेंट इकनॉमिक्स का सीनियर वाइस-प्रेजिडेंट बनाया गया है। वर्ल्ड बैंक के प्रेजिडेंट डेविड मलपास ने एक बयान में कहा कि इंदरमीत गिल तो ग्रोथ, गरीबी, इंस्टीट्यूशंस, कनफ्लिक्ट और क्लाइमेट चेंज जैसे मुद्दों पर सरकारों के साथ काम करने का व्यापक अनुभव है। उनके अनुभवों का लाभ बैंक को मिलेगा। वह  कारमेन रेनहार्ट की जगह लेंगे। गिल ने कहा कि कारमेन रेनहार्ट बड़ी लकीर खींचकर गए हैं और उनके लिए इस पर चलना सम्मान की बात है।
 

दिल्ली से क्या है कनैक्शन ?
गिल दिल्ली स्कूल ऑफ इकनॉमिक्स से एमए और सेंट स्टीफंस कॉलेज से बीए किया। भारत के रघुराम राजन और गीता गोपीनाथ  वर्ल्ड बैंक की सहयोगी संस्था इंटरनेशनल मॉनिटरी फंड में चीफ इकनॉमिस्ट रह चुके हैं। वह अमेरिका की जार्जटाऊन और शिकागों यूनिवर्सिटी में पढ़ा चुके हैं।   नोबल पुरस्कार विजेता गैरी बेकरऔर  रॉबर्ट ई लुकास जूनियर  के शिष्य रह चुके  गिल ने शिकागों यूनिवर्सिटी से ही पीएचडी की थी।  

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!