बायोकॉन बायोलॉजिक्स से संबंधित रिश्वत मामले में संयुक्त औषधि नियंत्रक समेत पांच गिरफ्तार

Edited By PTI News Agency, Updated: 21 Jun, 2022 10:43 PM

pti state story

नयी दिल्ली, 21 जून (भाषा) केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने संयुक्त औषधि नियंत्रक एस ईश्वर रेड्डी को बायोकॉन बायोलॉजिक्स की इंसुलिन दवा को तीसरे चरण के परीक्षण से छूट देने के लिए कथित तौर पर चार लाख रुपये की रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार...

नयी दिल्ली, 21 जून (भाषा) केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने संयुक्त औषधि नियंत्रक एस ईश्वर रेड्डी को बायोकॉन बायोलॉजिक्स की इंसुलिन दवा को तीसरे चरण के परीक्षण से छूट देने के लिए कथित तौर पर चार लाख रुपये की रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है।
इसके अलावा सीबीआई ने बायोकॉन बायोलॉजिक्स के एसोसिएट उपाध्यक्ष एल प्रवीण कुमार और तीन अन्य व्यक्तियों को भी गिरफ्तार किया है।
हालांकि कंपनी ने रिश्वत देने के आरोपों से इनकार किया है। बायोकॉन बायोलॉजिक्स किरण मजूमदार शॉ के नेतृत्व वाली बायोकॉन की सहायक कंपनी है।
जांच अधिकारियों ने बताया कि इस मामले में सिनर्जी नेटवर्क इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक दिनेश दुआ को भी गिरफ्तार किया गया है जो कथित तौर पर रेड्डी को रिश्वत दे रहे थे।

अधिकारियों ने कहा कि आवश्यक कागजी कार्रवाई पूरी करने के बाद सीबीआई ने रेड्डी और दुआ को गिरफ्तार कर लिया है। इन दोनों को सोमवार को एक छापे के दौरान उस समय हिरासत में लिया गया था जब रिश्वत का कथित लेनदेन हो रहा था। रेड्डी केंद्रीय दवा मानक नियंत्रक संगठन (सीडीएससीओ) में नियुक्त हैं।

सीबीआई की एक विशेष अदालत ने रेड्डी, गुलजीत सेठी, दुआ और सहायक औषधि निरीक्षक अनिमेष कुमार को एजेंसी की एक दिन की हिरासत में भेज दिया है। जबकि बेंगलुरु से गिरफ्तार कि गए प्रवीण कुमार को वहां की अदालत से ट्रांजिट रिमांड पर लिया गया। सीबीआई प्रवीण कुमार को दिल्ली ला रही है।
सीबीआई ने सभी पांचों आरोपियों के खिलाफ आपराधिक साजिश, धोखाधड़ी, जालसाजी और भ्रष्टाचार से संबंधित आईपीसी की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है।

बायोकॉन बायोलॉजिक्स के प्रवक्ता ने इस मामले में कहा, ‘‘हम कुछ खबरों में लगाए गए रिश्वतखोरी के आरोपों से इनकार करते हैं। हमारे सभी उत्पादों के अनुमोदन वैध हैं और विज्ञान एवं क्लिनिकल आकड़ों से समर्थित हैं। यूरोप और कई अन्य देशों में हमारी इस दवा को मंजूरी दी गई है।’’
प्रवक्ता ने कहा, ‘‘हम सभी उत्पाद अनुमोदनों के लिए डीसीजीआई (भारत के औषधि महानियंत्रक) द्वारा तय उचित नियामक प्रक्रिया का पालन करते हैं। भारत में पूरी आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन है और सभी टिप्पणियां सार्वजनिक रूप से उपलब्ध हैं। हम जांच एजेंसी के साथ सहयोग कर रहे हैं।’’



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

Related Story

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!