निर्मला सीतारमण को फिर मिला वित्त मंत्रालय, जानें उनका अब तक का राजनीतिक सफर

Edited By jyoti choudhary,Updated: 11 Jun, 2024 10:41 AM

nirmala sitharaman gets finance ministry again know her journey so far

नरेंद्र मोदी ने तीसरी बार प्रधानमंत्री बनने के बाद सोमवार को सभी मंत्रियों को उनके विभाग भी सौंप दिए हैं। लगभग सभी अहम विभागों को पिछले मंत्री ही संभालेंगे। वित्त मंत्रालय भी एक बार फिर से निर्मला सीतारमण को ही दिया गया है। वह पांच साल तक वित्त...

बिजनेस डेस्कः नरेंद्र मोदी ने तीसरी बार प्रधानमंत्री बनने के बाद सोमवार को सभी मंत्रियों को उनके विभाग भी सौंप दिए हैं। लगभग सभी अहम विभागों को पिछले मंत्री ही संभालेंगे। वित्त मंत्रालय भी एक बार फिर से निर्मला सीतारमण को ही दिया गया है। वह पांच साल तक वित्त मंत्री रही हैं। फरवरी, 2024 में अंतरिम बजट पेश करके वह लगातार छह बजट पेश करने वाली पहली वित्त मंत्री बन गई थीं। इससे पहले यह रिकॉर्ड पूर्व पीएम मोरारजी देसाई के नाम था। अब जुलाई में सातवां बजट पेश करके वह एक कदम और आगे निकल जाएंगी। हालांकि, सबसे ज्यादा 10 बजट पेश करने का मोरारजी देसाई (Morarji Desai) का रिकॉर्ड तोड़ने के लिए अभी उन्हें कुछ और साल इंतजार करना पड़ेगा।

5 पूर्ण और एक अंतरिम बजट किए हैं पेश 

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने तीसरे कार्यकाल में एक बार फिर से निर्मला सीतारमण पर ही भरोसा जताया है। दो बार की केंद्रीय मंत्री निर्मला सीतारमण 2019 के पूर्ण बजट से शुरू होकर पहले ही छह बजट पेश कर चुकी हैं। वह 5 साल तक वित्त मंत्री रहीं और उन्होंने 6 बजट पेश किए हैं। इनमें 5 पूर्ण और एक अंतरिम बजट शामिल है। इससे पहले वह कुछ महीनों के लिए वित्त राज्य मंत्री भी बनी थीं।

PunjabKesari

वित्त मंत्री के तौर पर किए बड़े सुधार 

64 वर्षीय निर्मला सीतारमण ने साल 2019 में अरुण जेटली (Arun Jaitley) से वित्त मंत्रालय की कमान संभाली। इसके साथ ही वह पूरे कार्यकाल के लिए वित्त मंत्रालय का प्रभार पाने वाली देश की पहली महिला बन गई थीं। वित्त मंत्री के रूप में उनके द्वारा शुरू किए गए प्रमुख सुधारों में बेस कॉर्पोरेट टैक्स (Corporate Tax) को 30 फीसदी से घटाकर 22 फीसदी करना शामिल था। इकोनॉमी को कोविड महामारी की चुनौतियों से बाहर निकालते हुए उन्होंने 20 लाख करोड़ के स्पेशल आर्थिक पैकेज की घोषणा भी की थी। यह भारत की जीडीपी का लगभग 10 फीसदी था।

JNU से पढ़ी हैं वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

निर्मला सीतारमण का जन्म 18 अगस्त, 1959 को तमिलनाडु के मदुरई में हुआ था। वे एक तमिल ब्राह्मण परिवार में नारायणन सीतारमण और सावित्री सीतारमण के घर जन्मीं और अपनी स्कूली शिक्षा मद्रास और तिरुचिरापल्ली से की। 1980 में सीतालक्ष्मी रामास्वामी कॉलेज से अर्थशास्त्र में स्नातक की डिग्री लेने के बाद सीतारमण जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) पहुंची और लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स की भी वह पूर्व छात्रा हैं।

2017 में बनीं पहली महिला रक्षा मंत्री

मोदी सरकार में उन्होंने 2017 में पहली महिला रक्षा मंत्री के रूप में नियुक्त होकर एक रिकॉर्ड स्थापित किया। इससे पहले, वह उद्योग और वाणिज्य मंत्री थीं।

PunjabKesari

स्वतंत्र भारत में पहली पूर्णकालिक महिला वित्त मंत्री

वह स्वतंत्र भारत में पहली पूर्णकालिक महिला वित्त मंत्री बनीं। इससे पहले, इंदिरा गांधी ने भारत की प्रधानमंत्री रहते हुए थोड़े समय के लिए अतिरिक्त विभाग के रूप में वित्त का कार्यभार संभाला था। महामारी के दौरान कठिनाई को दूर करने के लिए, सरकार ने भारत के जीडीपी के लगभग 10 फीसदी के बराबर 20 लाख करोड़ रुपए के विशेष आर्थिक पैकेज की घोषणा की।

सीतारमण का राजनीतिक जीवन 2006 में शुरू हुआ जब वह बीजेपी में शामिल हुईं और 2 साल में सुषमा स्वराज के बाद पार्टी की दूसरी महिला प्रवक्ता बन गईं।

PunjabKesari

सबसे ज्यादा 10 बजट मोरारजी देसाई ने पेश किए

देश में सबसे ज्यादा 10 बजट मोरारजी देसाई ने पेश किए हैं। दूसरे नंबर पर पी चिदंबरम 9 बजट और तीसरे नंबर पर प्रणब मुखर्जी 8 बजट के साथ मौजूद हैं। इसके बाद यशवंत सिन्हा 7 बजट, सीडी देशमुख 7 बजट और मनमोहन सिंह ने 6 बजट पेश किए थे। बजट पेश करने वाली पहली महिला इंदिरा गांधी थीं। हालांकि, उन्होंने प्रधानमंत्री रहते हुए यह बजट पेश किया था।

Related Story

Trending Topics

Afghanistan

134/10

20.0

India

181/8

20.0

India win by 47 runs

RR 6.70
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!