SpiceJet ने 2 साल से नहीं भरा किसी भी कर्मचारी का PF, वित्तीय संकट से जूझ रही एयरलाइन

Edited By jyoti choudhary,Updated: 09 Jul, 2024 12:14 PM

spicejet has not paid pf of any employee for 2 years airline is facing

वित्तीय संकट और कानूनी मामलों से जूझ रही एयरलाइन स्पाइसजेट ने करीब 2.5 साल से अपने किसी भी कर्मचारी का पीएफ नहीं जमा किया है। यह जानकारी ईपीएफओ ने एक आरटीआई के जवाब में दी है। कंपनी ने 2022 से ही ईपीएफओ में योगदान बंद कर दिया है। इस संबंध में ईपीएफओ...

बिजनेस डेस्कः वित्तीय संकट और कानूनी मामलों से जूझ रही एयरलाइन स्पाइसजेट ने करीब 2.5 साल से अपने किसी भी कर्मचारी का पीएफ नहीं जमा किया है। यह जानकारी ईपीएफओ ने एक आरटीआई के जवाब में दी है। कंपनी ने 2022 से ही ईपीएफओ में योगदान बंद कर दिया है। इस संबंध में ईपीएफओ की ओर से कई बार नोटिस और समन कंपनी को भेजे गए हैं। आरटीआई के मुताबिक स्पाइसजेट ने आखिरी बार जनवरी 2022 में 11,581 कर्मचारियों का पीएफ जमा किया था।

स्पाइसजेट ने अभी तक पीएफ नहीं जमा करने की खबरों का न तो खंडन किया है और न ही कोई सफाई दी है। बता दें कि इसी साल जनवरी में कंपनी ने कथित तौर पर कर्मचारियों की सैलरी रोक दी थी।

संकटों से घिरी एयरलाइन

कंपनी को विमान लीज पर देने वाली कई कंपनियों द्वारा दायर मुकदमे भी झेलने पड़ रहे हैं। ये कंपनियां स्पाइसजेट को लीज पर दिए गए प्लेन्स की मियाद नहीं बढ़ाना चाहती हैं। नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (NCLT) ने 18 अप्रैल को कंपनी को 3 अलग दिवालिया याचिका में नोटिस जारी किया था। नोटिस के अनुसार, कंपनी 77 करोड़ रुपए का भुगतान नहीं कर पाई है। मई में कलानिधि मारन और काल एयरवेज ने कंपनी से उन्हें हुई क्षति की भरपाई के लिए 1323 करोड़ रुपए की मांग की थी।

दरअसल, 2015 में कलानिधि मारन और उनकी कंपनी केएएल ने अपनी 58 फीसदी हिस्सेदारी स्पाइसजेट के प्रमुख अजय सिंह को हस्तांतरित की थी। अजय सिंह ने इसी के साथ कंपनी पर 1500 करोड़ की देनदारी भी अपने ऊपर ले ली थी। अजय सिंह स्पाइसजेट के को-फाउंड हैं। इस सौदे में मारन और केएएल को प्रेफेरेंस स्टॉक व वॉरंट दिए जाने थे जिसके बदले उन्होंने स्पाइसजेट को 679 करोड़ रुपए दिए थे। अब मारन आरोप लगा रहे हैं कि कंपनी की ओर से उन्हें कोई शेयर या वारंट अलॉट नहीं हुए।

क्या है पीएफ?

इम्पलॉई प्रोविडेंट फंड की मदद से कोई कर्मचारी अपने भविष्य के लिए धन एकत्रित करता है। इसमें कंपनी और कर्मचारी बराबर का योगदान करते हैं। इसी फंड से कर्मचारी की रिटायरमेंट निधि तैयार होती है। इस निधि का एक हिस्सा एकसाथ बाहर निकाला जा सकता है जबकि एक हिस्से को पेंशन प्राप्त करने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।

इस साल 7.62% गिरा है स्पाइसजेट का शेयर

स्पाइसजेट का शेयर आज (5 जुलाई) 3.21% चढ़कर 56.02 रुपए के स्तर पर बंद हुआ। कंपनी के शेयर ने एक महीने में 0.39% और 6 महीने में 8.30% का निगेटिव रिटर्न दिया है। एक साल में शेयर ने 85.99% का पॉजिटिव रिटर्न दिया है। केवल इस साल की बाद करें यानी 1 जनवरी से अब तक, तो कंपनी के शेयर ने 7.62% का निगेटिव रिटर्न दिया है।
 

Related Story

Trending Topics

Afghanistan

134/10

20.0

India

181/8

20.0

India win by 47 runs

RR 6.70
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!