आई.ए.एस. पोपली और सहायक सचिव 4 दिन के रिमांड पर

Edited By Ajay Chandigarh, Updated: 21 Jun, 2022 07:58 PM

why was there a delay in filing the complaint

जिला अदालत ने आई.ए.एस. संजय पोपली और उनके सहायक सचिव संदीप वत्स को 4 दिन के रिमांड पर भेज दिया है। पंजाब विजीलैंस ब्यूरो ने सोमवार को सीवरेज बोर्ड में तैनाती दौरान करोड़ों रुपए की अदायगी की एवज में ठेकेदार से 1 प्रतिशत कमीशन लेने के आरोप में...

मोहाली,(संदीप): जिला अदालत ने आई.ए.एस. संजय पोपली और उनके सहायक सचिव संदीप वत्स को 4 दिन के रिमांड पर भेज दिया है।
पंजाब विजीलैंस ब्यूरो ने सोमवार को सीवरेज बोर्ड में तैनाती दौरान करोड़ों रुपए की अदायगी की एवज में ठेकेदार से 1 प्रतिशत कमीशन लेने के आरोप में गिरफ्तार किया था। विजीलैंस ने केस की जांच का हवाला देते हुए दोनों आरोपियों के 7 दिन के रिमांड की मांग की थी। वहीं, अदालत से जाते समय आई.ए.एस. पोपली ने पूरी तरह से चुप्पी साधे रखी। उन्होंने केवल इतना ही कहा कि नियम के तहत वह कुछ बोल नहीं सकते हैं। 

 


केस को लेकर 35 ठेकेदारों से करनी है पूछताछ
अदालत में सुनवाई के दौरान विजीलैंस ने दलील दी कि आई.ए.एस. पोपली पर वॉटर एवं सीवरेज बोर्ड का सी.ई.ओ. रहते हुए सहायक सचिव की मदद से ठेकेदार से 7 करोड़ से अधिक की रकम के प्रोजैक्ट के पूरा होने के बाद जारी होने वाली रकम के लिए 1 प्रतिशत कमीशन लिए जाने के आरोप हैं। केस की जांच के संबंध में विजीलैंस अब 30 से 35 ठेकेदारों से पूछताछ करेगी जिसके चलते ही 7 दिन के रिमांड की मांग की गई थी। वहीं, बचाव पक्ष ने दलील दी कि विजीलैंस ने जांच करने के बाद ही केस दर्ज किया है। उसके पास केस के संबंध में वीडियो और ऑडियो रिकार्डिंग भी मौजूद है तो ऐसे में आरोपियों से लंबी पूछताछ की क्या जरूरत है। 

 


शिकायत देने में आखिर क्यों की गई देरी
बचाव पक्ष ने दलील दी कि विजीलैंस ने जिस वीडियो के आधार पर केस दर्ज किया है, वह फरवरी माह की बताई जा रही है। ऐसे में सवाल यह उठता है कि आखिर शिकायत देने में इतना समय क्यों लगाया गया। जिस वीडियो के आधार पर केस दर्ज किया गया है उसमें आई.ए.एस. संजय पोपली नहीं है। 

 

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!