Shri Sanwaliya Seth Mandir:  सांवलिया सेठ के भंडार से निकले 7.7 करोड़

Edited By Prachi Sharma,Updated: 05 Jul, 2024 07:36 AM

shri sanwaliya seth mandir

मेवाड़ के सुप्रसिद्ध कृष्णधाम सांवलियाजी में भगवान श्री सांवलिया सेठ के भंडार से 07 करोड़ 70 लाख 41 हजार रुपए निकले हैं।

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ

सांवलिया जी (भदेसर) (ब्यूरो): मेवाड़ के सुप्रसिद्ध कृष्णधाम सांवलियाजी में भगवान श्री सांवलिया सेठ के भंडार से 07 करोड़ 70 लाख 41 हजार रुपए निकले हैं। वर्षों पुरानी परंपरा के अनुसार प्रति माह कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को दो दिवसीय मासिक मेले के पहले दिन ठाकुरजी का भंडार खोला जाता है। इसी क्त्रम में गुरुवार को कृष्ण पक्ष चतुर्दशी का पर्व होने से ठाकुरजी की राजभोग की आरती के बाद कड़ी सुरक्षा के बीच ठाकुरजी का भंडार खोला गया। ठाकुरजी का भंडार खोलने के दौरान सांवलिया जी मंदिर मंडल के मुख्य कार्यपालक अधिकारी व चित्तौड़गढ़ अतिरिक्त जिला कलक्टर राकेश कुमार, भदेसर उपखंड अधिकारी विजयेश कुमार पण्ड्या, नायब तहसीलदार व मंदिर मंडल प्रशासनिक अधिकारी प्रथम घनश्याम जरवाल, मंदिर मंडल बोर्ड के अध्यक्ष भेरुलाल गुर्जर, बोर्ड सदस्य संजय कुमार मण्डोवरा, ममतेश शर्मा, अशोक कुमार शर्मा, शंभू सुथार, श्रीलाल कुलमी, भैरुलाल सोनी, प्रशासनिक अधिकारी द्वितीय नंदकिशोर टेलर, मंदिर प्रभारी राजेंद्र शर्मा, सुरक्षा प्रभारी गुलाब सिंह, स्टोर अनुभाग प्रभारी मनोहर लाल शर्मा सहित क्षेत्रीय बैंकों के कर्मचारी मौजूद थे।

गुरुवार को की गई प्रथम चरण की गणना में ठाकुरजी के भंडार से 7 करोड़ 70 लाख 41 हजार रुपए की राशि की गणना हो पाई। शेष बची राशि की गणना ठाकुर जी के दो दिवसीय मासिक मेले के बाद में की जाएगी। साथ ही ठाकुरजी के भंडार से प्राप्त सोना तथा चांदी का वजन भी मासिक मेले के बाद में किया जाएगा। मंदिर मंडल भेंट कक्ष कार्यालय में नगद व मनी ऑर्डर के रूप में प्राप्त राशि की गणना व भेंट स्वरूप प्राप्त सोना तथा चांदी का वजन भी मासिक मेले के बाद में किया जाएगा।

धराया आकर्षक शृंगार: भगवान श्री सांवलिया सेठ को दो दिवसीय मासिक मेले के तहत आकर्षक व भव्य श्रृंगार धराया गया। गुरुवार प्रात: ओसरा पुजारी भगवान दास, कन्हैया दास तथा गोपाल दास ने ठाकुरजी की प्रतिमा को गंगाजल से स्नान करवाकर शृंगार धराया।

आज विविध आयोजन
दो दिवसीय मासिक मेले के दूसरे दिन कृष्ण पक्ष अमावस्या को मंदिर मंडल के द्वारा विविध आयोजन किए जाएंगे। सर्वप्रथम ठाकुरजी को गंगाजल से स्नान करवाकर स्वर्ण जड़ित पोशाक धारण करवाई जाएगी तथा शाम को स्थानीय देवकी सदन धर्मशाला परिसर में विशाल ब्रह्मभोज का आयोजन किया जाएगा।

Related Story

Trending Topics

Afghanistan

134/10

20.0

India

181/8

20.0

India win by 47 runs

RR 6.70
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!