यह 2022 है, हमारे पास अभी भी वाटरप्रूफ फोन क्यों नहीं हैं?

Edited By rajesh kumar,Updated: 04 Jul, 2022 02:42 PM

it s 2022 why don t we still have waterproof phones

फोन निर्माताओं ने स्मार्टफ़ोन की जल-प्रतिकारक प्रकृति को तो सफलतापूर्वक बढ़ा लिया है, पर ‘‘वाटरप्रूफ'''' फोन के निर्माण से अभी बहुत दूर हैं। एक वाटर प्रतिकारक उत्पाद आमतौर पर कुछ हद तक पानी के प्रवेश को रोक सकता है, लेकिन एक वाटरप्रूफ उत्पाद पानी के...

गैजेट डेस्क: फोन निर्माताओं ने स्मार्टफ़ोन की जल-प्रतिकारक प्रकृति को तो सफलतापूर्वक बढ़ा लिया है, पर ‘‘वाटरप्रूफ'' फोन के निर्माण से अभी बहुत दूर हैं। एक वाटर प्रतिकारक उत्पाद आमतौर पर कुछ हद तक पानी के प्रवेश को रोक सकता है, लेकिन एक वाटरप्रूफ उत्पाद पानी के लिए पूरी तरह से अभेद्य होता है। पिछले हफ्ते, सैमसंग ऑस्ट्रेलिया पर ऑस्ट्रेलियाई फेडरल कोर्ट ने अपने गैलेक्सी फोन के पानी के प्रतिरोध के विज्ञापनों में झूठे अभ्यावेदन पर एक करोड़ 40 लाख डॉलर का जुर्माना लगाया था। टेक दिग्गज ने स्वीकार किया कि गैलेक्सी फोन को पूल या समुद्र के पानी में डुबोने से चार्जिंग पोर्ट खराब हो सकते हैं और अगर उसी हालत में फोन को चार्ज किया जाए तो वह फोन को काम करने से रोक सकते हैं।

इसी तरह, 2020 में, ऐप्पल पर आईफोन के जल प्रतिरोध के बारे में भ्रामक दावों के लिए इटली में €एक करोड़ 53 लाख डॉलर का जुर्माना लगाया गया था। पानी में गिरने से फोन का खराब हो जाना आम बात है। अमेरिका में 2018 के एक सर्वेक्षण में, 39% उत्तरदाताओं ने कहा कि उन्होंने अपने फोन को पानी में गिरा दिया। अन्य सर्वेक्षणों के भी समान परिणाम आए हैं। तो 2022 में ऐसा क्यों है - एक ऐसा समय जहां हम तकनीकी चमत्कारों से घिरे हैं - हमारे पास अभी भी वाटरप्रूफ फोन नहीं हैं?

वाटरप्रूफ बनाम वाटर रेसिस्टेंट
ठोस (जैसे धूल) और तरल पदार्थ (अर्थात् पानी) के खिलाफ उपकरणों के प्रतिरोध को मापने के लिए एक रेटिंग प्रणाली का उपयोग किया जाता है। इसे इनग्रेड प्रोटेक्शन (आईपी) रेटिंग कहा जाता है। एक आईपी रेटिंग में दो नंबर होंगे। आईपी68 की रेटिंग में, 0 (कोई सुरक्षा नहीं) के पैमाने से 6 (उच्च सुरक्षा) के पैमाने पर ठोस पदार्थों के खिलाफ सुरक्षा को संदर्भित करता है, और 0 (कोई सुरक्षा नहीं) से 9 (उच्च सुरक्षा) के पैमाने पर पानी के खिलाफ सुरक्षा को संदर्भित करता है। दिलचस्प बात यह है कि जल-प्रतिरोध रेटिंग के लिए बेंचमार्क निर्माताओं के बीच भिन्न होता है। उदाहरण के लिए, सैमसंग के आईपी68-प्रमाणित फोन 30 मिनट तक ताजे पानी में 1.5 मीटर की अधिकतम गहराई तक पानी प्रतिरोधी हैं, और कंपनी समुद्र तट या पूल के उपयोग के प्रति सावधान करती है।

आईपी68 रेटिंग वाले ऐप्पल के कुछ आईफोन को 6मीटर की अधिकतम गहराई पर 30 मिनट तक उपयोग किया जा सकता है। फिर भी सैमसंग और ऐप्पल दोनों ही अपनी वारंटी के तहत आपके पानी से क्षतिग्रस्त फोन की मरम्मत पर विचार करने की संभावना नहीं रखते हैं। इसके अलावा, आईपी रेटिंग परीक्षण नियंत्रित प्रयोगशाला स्थितियों के तहत किया जाता है। नौका विहार, तैराकी या स्नॉर्कलिंग जैसे वास्तविक जीवन के परिदृश्यों में गति, पानी का दबाव और क्षारीयता सहित सभी कारक अलग-अलग होते हैं। इसलिए, फ़ोन के पानी के प्रतिरोध के स्तर का आकलन करना जटिल हो जाता है।

फोन को वाटर-रेसिस्टेंट कैसे बनाया जाता है?
फोन को वाटर-रेसिस्टेंट बनाने के लिए कई घटकों और तकनीकों की आवश्यकता होती है। आमतौर पर, सुरक्षा का पहला बिंदु उन सभी प्रवेश (प्रवेश) बिंदुओं के चारों ओर एक भौतिक अवरोध बनाना है जहां धूल या पानी प्रवेश कर सकता है। इनमें बटन और स्विच, स्पीकर और माइक्रोफोन आउटलेट, कैमरा, फ्लैश, स्क्रीन, फोन एनक्लोजर, यूएसबी पोर्ट और सिम कार्ड ट्रे शामिल हैं। इन बिंदुओं को गोंद, चिपकने वाली स्ट्रिप्स और टेप, सिलिकॉन सील, रबर के छल्ले, गास्केट, प्लास्टिक और धातु की जाली और पानी प्रतिरोधी झिल्ली का उपयोग करके कवर और सील किया जाता है। इसके बाद, पानी को पीछे हटाने में मदद करने के लिए फोन के सर्किट बोर्ड पर अल्ट्रा-थिन पॉलीमर नैनोकोटिंग की एक परत लगाई जाती है।

फिर भी, जैसे-जैसे फोन पुराना होता जाता है, वैसे-वैसे फोन का पानी प्रतिरोध समय के साथ कम होता जाएगा। ऐप्पल ने माना कि पानी- और धूल-प्रतिरोध उसके फोन की स्थायी विशेषताएं नहीं हैं। कैमरे पानी के लिए पूरी तरह से अभेद्य नहीं हैं, लेकिन कुछ स्मार्टफोन की तुलना में पानी में डूबने को बहुत बेहतर तरीके से सहन कर सकते हैं। फोन में पानी के प्रतिरोध को जोड़ने से उपभोक्ताओं के लिए उनकी कीमत भी बढ़ जाती है (शओमी के सह-संस्थापक के अनुसार 20% से 30% तक)। यह निर्माताओं के लिए एक प्रमुख विचार है - खासकर जब से एक छोटी सी दरार भी किसी भी वॉटरप्रूफिंग की विशेषता को समाप्त कर सकती है।

उपकरणों को सूखा रखना
आंतरिक सर्किट बोर्डों पर नैनोकोटिंग के अलावा, फोन के बाहरी हिस्से में वाटर प्रतिरोध कोटिंग लगाने से सुरक्षा को बढ़ावा मिल सकता है। कुछ कंपनियां इस तकनीक पर काम कर रही हैं। भविष्य के फोन में सर्किटरी भी हो सकती है जो लेजर लेखन तकनीकों का उपयोग करके सीधे (वाटरप्रूफ) सिलिकॉन सामग्री पर गढ़ी जाती है, और आगे जल-प्रतिरोध तकनीकों के साथ लेपित होती है। हालाँकि, अभी के लिए वाटरप्रूफ फोन जैसी कोई चीज नहीं है। यदि आपका फ़ोन किसी पूल या शौचालय में गिर जाता है और चालू नहीं हो रहा है, तो आप उसे ठीक से सुखाने के उपाय करें। यदि आप अपने फोन को पानी की गतिविधियों के लिए पूरी तरह से वाटरप्रूफ करना चाहते हैं तो आप वाटरप्रूफ केस या ड्राई पाउच भी खरीद सकते हैं।

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!