अमेज़न बना रहा ऑस्ट्रेलिया के लिए 'टॉप सीक्रेट' क्लाउड, 2 अरब डॉलर की हुई डील

Edited By Tanuja,Updated: 06 Jul, 2024 03:18 PM

amazon building australia a billion dollar military intel cloud

अमेज़ॅन ने ऑस्ट्रेलियाई सिग्नल निदेशालय के साथ दो अरब आस्ट्रेलियाई डॉलर का अनुबंध हासिल किया है जो विदेशी सिग्नल इंटेलिजेंस और सूचना सुरक्षा...

मेलबर्नः अमेज़ॅन ने ऑस्ट्रेलियाई सिग्नल निदेशालय के साथ दो अरब आस्ट्रेलियाई डॉलर का अनुबंध हासिल किया है जो विदेशी सिग्नल इंटेलिजेंस और सूचना सुरक्षा के लिए जिम्मेदार एजेंसी है। करार के तहत अमेज़ॅन वेब सर्विसेज की एक स्थानीय सहायक कंपनी सैन्य खुफिया जानकारी के लिए सुरक्षित डेटा भंडारण प्रदान करने के लिए एक टॉप सीक्रेट क्लाउड का निर्माण करेगी। यह सौदा ऑस्ट्रेलिया की राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए महत्वपूर्ण शीर्ष गुप्त डेटा को सुरक्षित रूप से प्रबंधित करेगा। यह अनुबंध एक दशक से अधिक समय तक चलने की उम्मीद है। यह ऑस्ट्रेलिया में अज्ञात स्थानों पर तीन सुरक्षित डेटा केंद्र बनाएगा।  प्रधान मंत्री एंथनी अल्बानीज़ ने कहा कि यह परियोजना "हमारे रक्षा और राष्ट्रीय खुफिया समुदाय को मजबूत करेगी ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि वे हमारे राष्ट्र के लिए विश्व-अग्रणी सुरक्षा प्रदान कर सकें।" 2027 तक चालू होने वाली इस परियोजना से 2,000 से अधिक नौकरियाँ पैदा होने और आने वाले वर्षों में परिचालन व्यय में अरबों अधिक खर्च होने की उम्मीद है। तो - अमेज़न क्यों? और क्या ऑस्ट्रेलिया को वास्तव में इसकी आवश्यकता है?

PunjabKesari

ऑस्ट्रेलिया को सीक्रेट क्लाउड की आवश्यकता क्यों है?
ऑस्ट्रेलिया को सुरक्षा चुनौतियों की बढ़ती लहर का सामना करना पड़ रहा है। कई संभावित खतरों से बचाव के लिए सैन्य खुफिया जानकारी को सुरक्षित रूप से संग्रहीत करने की क्षमता महत्वपूर्ण है। ऑस्ट्रेलियाई सिग्नल निदेशालय के महानिदेशक राचेल नोबल ने बताया कि यह परियोजना "हमारे खुफिया और रक्षा समुदाय को शीर्ष गुप्त डेटा को संग्रहीत करने और उस तक पहुंचने के लिए एक अत्याधुनिक स्थान प्रदान करेगी।" क्लाउड निदेशालय के रेडस्पाइस कार्यक्रम का भी हिस्सा है, जिसका उद्देश्य ऑस्ट्रेलिया की खुफिया क्षमताओं और साइबर सुरक्षा में सुधार करना है। आधुनिक क्लाउड सिस्टम में जाकर, ऑस्ट्रेलिया अपने संवेदनशील डेटा की बेहतर सुरक्षा कर सकता है। इससे विभिन्न सुरक्षा एजेंसियों के बीच समन्वय में भी सुधार होगा।

 

अमेज़न वेब सेवाएँ क्यों?
आप अमेज़न को केवल एक ऑनलाइन रिटेल दिग्गज के रूप में जानते होंगे। अमेजन वेब सर्विसेज (एडब्ल्यूएस) अमेजन की एक तकनीकी सहायक कंपनी है। यह वास्तव में क्लाउड सेवा व्यवसाय में अग्रणी था। आज, यह दुनिया भर में हजारों व्यवसायों और सरकारों को क्लाउड कंप्यूटिंग सेवाएं प्रदान करता है। शीर्ष दस क्लाउड प्रदाताओं में एडब्ल्यूएस की बाजार हिस्सेदारी 2024 में बढ़कर 50.1% हो गई। माइक्रोसाफ्ट अजूर और गूगल क्लाउड अगले दो सबसे बड़े प्रदाता हैं। अपनी विश्वसनीयता, कौशल और सुरक्षा के लिए जाना जाने वाला एडब्ल्यूएस पहले से ही वैश्विक स्तर पर अन्य सरकारों और संगठनों को समान सेवाएं प्रदान करता है। इसमें अमेरिका का रक्षा विभाग और सेंट्रल इंटेलिजेंस एजेंसी (सीआईए), साथ ही यूनाइटेड किंगडम की सभी तीन खुफिया एजेंसियां ​​शामिल हैं।

PunjabKesari

क्या नया क्लाउड सुरक्षित रहेगा?
जब हम "क्लाउड" के बारे में सोचते हैं, तो हम अक्सर उस इंटरनेट की कल्पना करते हैं जिसका हम प्रतिदिन उपयोग करते हैं। हालाँकि, ऑस्ट्रेलिया की सेना के लिए एडब्ल्यूएस जो टॉप सीक्रेट क्लाउड बनाएगा वह बहुत अलग है। यह एक निजी, अत्यधिक सुरक्षित प्रणाली है जो सार्वजनिक इंटरनेट से पूरी तरह से अछूती है। जबकि एडब्ल्यूएस ठेकेदार है, डेटा केंद्र ऑस्ट्रेलियाई सिग्नल निदेशालय के विनिर्देशों के अनुसार बनाए जाएंगे। डेटा की सुरक्षा के लिए क्लाउड उन्नत एन्क्रिप्शन का उपयोग करेगा। कोई भी सिस्टम पूरी तरह से हैक-प्रूफ नहीं है, लेकिन यह सेटअप अनधिकृत व्यक्तियों के लिए जानकारी तक पहुंच को बेहद कठिन बना देता है। ऑस्ट्रेलियाई सरकार ने इस बात पर जोर दिया है कि वह क्लाउड में संग्रहीत डेटा पर पूर्ण नियंत्रण बनाए रखेगी। केवल उच्च-स्तरीय सुरक्षा मंजूरी वाले कर्मचारी ही परियोजना पर काम करेंगे।  

PunjabKesari

अमेरिका और ब्रिटेन में स्थापित किए जा चुके सीक्रेट क्लाउड
सुरक्षित क्लाउड की ओर यह कदम दुनिया भर में सरकारी और सैन्य प्रौद्योगिकी में व्यापक रुझान का हिस्सा है। कई देश नई तकनीक का लाभ उठाने के लिए अपने पुराने कंप्यूटर सिस्टम को अपडेट कर रहे हैं। यह लंबे समय में अधिक लचीलापन, बेहतर प्रदर्शन और संभावित रूप से कम लागत की पेशकश कर सकता है। इस परियोजना के अंतर्राष्ट्रीय निहितार्थ भी हैं। टॉप सीक्रेट क्लाउड साझेदार देशों के साथ सहयोग को आसान बनाएगा। इसी तरह के डेटा क्लाउड पहले ही अमेरिका और ब्रिटेन में स्थापित किए जा चुके हैं, जिससे सहयोगियों के बीच बड़ी मात्रा में जानकारी साझा करने की अनुमति मिलती है। यह ध्यान देने योग्य बात है कि संभावित प्रतिद्वंद्वी भी इसी तरह की तकनीक में भारी निवेश कर रहे हैं। इस टॉप सीक्रेट क्लाउड को विकसित करके, ऑस्ट्रेलिया का लक्ष्य तेजी से विकसित हो रहे साइबर खतरे के माहौल में आगे रहना है। आने वाले वर्षों में, हम संभवतः अधिक देशों को अपनी रक्षा और खुफिया जरूरतों के लिए समान क्लाउड सिस्टम अपनाते हुए देखेंगे।  

Related Story

Trending Topics

Afghanistan

134/10

20.0

India

181/8

20.0

India win by 47 runs

RR 6.70
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!