'हमले की लाइव रिकॉर्डिंग, बंदूक की नोक पर बनावाया खाना', कठुआ हमले में नए खुलासे

Edited By Mahima,Updated: 11 Jul, 2024 12:05 PM

new tactics of terrorists new revelations in kathua attack

जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले में रविवार को हुए आतंकी हमले में नए खुलासे सामने आए हैं। अनुसूचित सूत्रों के अनुसार, आतंकियों ने इस हमले के दौरान बॉडीकैम पहने हुए थे और पाकिस्तान में बैठे आतंकी आदमियों ने उन्हें लाइव वीडियो रिकॉर्डिंग करने का आदेश दिया था।

नेशनल डेस्क: जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले में रविवार को हुए आतंकी हमले में नए खुलासे सामने आए हैं। अनुसूचित सूत्रों के अनुसार, आतंकियों ने इस हमले के दौरान बॉडीकैम पहने हुए थे और पाकिस्तान में बैठे आतंकी आदमियों ने उन्हें लाइव वीडियो रिकॉर्डिंग करने का आदेश दिया था। आतंकी जम्मू-कश्मीर में भारतीय सुरक्षाबलों के खिलाफ डिजिटल टेरर प्लान के तहत कार्रवाई कर रहे हैं। खुफिया सूत्रों के मुताबिक, पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI आतंकियों को घुसपैठ करने में मदद कर रही है।

हाल के हमलों में भी इन्क्रिप्टेड डिजिटल मैप और ऑफलाइन लोकेशन ऐप जैसी तकनीकी सामग्री बरामद हुई है। सूत्रों की माने तो आतंकियों को इन्क्रिप्टेड डिजिटल मैप, ऑफलाइन लोकेशन ऐप के साथ कश्मीर में दाखिल कराने की साजिश को रचा था। पिछले कुछ महीनों में मारे गए आतंकियों के पास से इन्क्रिप्टेड डिजिटल मैप बरामद हुए थे। डिजिटल मैप में पहले से घुसपैठ के रास्ते फीड होते हैं, जिनका इस्तेमाल आतंकी द्वारा किया जाता है। 

ग्रामीणों से बंदूक की नोक पर बनवाया खाना
आतंकियों के खिलाफ इस दुष्कर्म की जांच में 20 से अधिक संदिग्ध व्यक्तियों को हिरासत में लिया गया है। जांच में पाया गया कि इन आतंकियों ने गांव में घुसकर ग्रामीणों को बंदूक की नोक पर खाना बनाने के लिए मजबूर किया था। इन आतंकियों की योजना में सुरक्षाबलों से हथियार छीनना भी शामिल था, जो की सफल नहीं हो पाया। जांच में पता चला है कि हमले में घायल होने के बावजूद जवानों ने आतंकियों को मुंहतोड़ जवाब दिया और उनके मंसूबों को कामयाब नहीं होने दिया। आतंकी अब पूरे प्लान के तहत सैन्य प्रतिष्ठानों से दूर इलाकों में हमला कर रहे हैं, जहां सुरक्षाबलों की पहुंच कमजोर है। इसका उद्देश्य दिखाया जा रहा है कि सुरक्षाबलों को अतिरिक्त सैन्य सहायता पहुंचाने में समय लगेगा।

ट्रक ने किया था ओवरटेक
जांच के दौरान पता चला है कि हमले से ठीक पहले पहाड़ी पर एक ट्रक ने सेना के काफिले की गाड़ियों को ओवरटेक किया था। जैसे ही सेना के वाहन स्लो हुए तो आतंकियों ने अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी, जिसके चलते हमले में 5 जवान शहीद हो गए। इतना ही नहीं इस हमले में 5 अन्य घायल भी हो गए। अधिकारियों के अनुसार, माचेडी-किंडली-मल्हार पहाड़ी सड़क पर सेना के वाहनों के पीछे एक ट्रक चल रहा था, लेकिन, लोहाई मल्हार में बदनोटा गांव के पास जब आतंकवादियों ने सेना के वाहनों पर दो अलग-अलग दिशाओं से गोलीबारी शुरू की तो यह ट्रक स्लो हो गया। अधिकारी इस बात की जांच कर रहे हैं कि क्या इस ट्रक ड्राइवर ने पुलिया पर ओवरटेक मांगकर जानबूझकर सैन्य काफिले को निकलने में देरी करवाई है? माना जा रहा है कि ट्रक चालक ने जानबूझकर पुलिया पर पास (ओवरटेक) मांगा था। 

कैसे हुआ था हमला?
जम्मू कश्मीर के कठुआ जिले में 7 जुलाई को सुरक्षाबल कठुआ के बडनोटा में तलाशी अभियान चला रहे थे। तभी आतंकियों ने घात लगाकर हमला किया. आंतकियों ने पहले सेना के वाहनों पर ग्रेनेड फेंके और फिर फायरिंग की। यहां पहले हुए हमलों की तरह ड्राइवर को भी निशाना बनाया गया। इलाके में रेकी के लिए स्थानीय गाइड ने आतंकियों की मदद की थी। इन गाइडों ने आतंकियों को खाना भी मुहैया कराया था और उन्हें पनाह दी थी। हमले को अंजाम देने के बाद इन स्थानीय गाइड ने आतंकियों को छिपने में भी मदद की थी।

Related Story

Afghanistan

134/10

20.0

India

181/8

20.0

India win by 47 runs

RR 6.70
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!