लापता मलेशियाई विमान को ढूढ़ेगा रोबोट

  • लापता मलेशियाई विमान को ढूढ़ेगा रोबोट
You Are HereInternational
Monday, April 07, 2014-7:38 PM

न्यूयार्क: लापता मलेशियाई विमान एमएच370 के मलबों को समुद्र की गहराइयों में खोजने के लिए अब पानी के अंदर संचालित होने वाले रोबोट का इस्तेमाल किया जाएगा। विशेषज्ञों ने यह जानकारी दी।

समुद्र के अंदर गोता लगा सकने योग्य इन रोबोटों में लापता विमान के मलबे की टोह लेने के लिए सोनार यंत्र का इस्तेमाल किया जाएगा। सोनार तकनीक ध्वनि तरंगों के जरिए समुद्र की सतह या समुद्र की गहराई में चीजों की तलाश में उपयोग की जाती है।

इस तरह के रोबोट को स्वचालित जलमग्न वाहन (एयूवी) कहा जाता है। इन्हीं रोबोटों के जरिए एअर फ्रांस के दुर्घटनाग्रस्त विमान447 के मलबे को दुर्घटना के दो वर्ष बाद अटलांटिक महासागर के दक्षिण में 2011 में खोज निकाला गया था।

एमएच370 की तलाश में लगे आस्ट्रेलियाई पोत पर ऐसा ही एक एयूवी है। वूड्स होल ओसनोग्राफिक इंस्टिट्यूशन (डब्ल्यूएचओआई) के विशेष परियोजनाओं के निदेशक डेविड गैलो के हवाले से कहा गया है, ‘‘बोस्टन की ब्लूफिन रोबोटिक्स कॉरपोरेशन द्वारा निर्मित एवं फीनिक्स इंटरनेशनल द्वारा संचालित एक ऐसे ही एयूवी को जल्द ही खोजी अभियान में शामिल किया जा सकता है।’’

कुआललम्पुर हवाईअड्डे से आठ मार्च को बीजिंग के लिए उड़ान भरने के 94 मिनट बाद यह विमान लापता हो गया, और अब तक उसका कुछ भी पता नहीं चल सका है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You