महात्मा बुद्घ के प्रवचन अब अंग्रेजी भाषा में भी उपलब्ध

  • महात्मा बुद्घ के प्रवचन अब अंग्रेजी भाषा में भी उपलब्ध
You Are HereNational
Thursday, October 24, 2013-6:38 PM

बोधगया: अब तक भगवान बुद्ध के उपदेश और मंत्र पालि या तिब्बती भाषा में उपलब्ध थे, परंतु अब इन प्रवचनों और मंत्रों को लोग अंग्रेजी भाषा में भी पढ़ सकेंगे। ‘84 हजार’ नामक एक संस्था द्वारा बुद्ध के सभी उपदेशों का अंग्रेजी में अनुवाद करने का काम चल रहा है। अब तक महात्मा बुद्ध के 7,000 प्रवचनों का तिब्बती भाषा से अंग्रेजी में अनुवाद किया जा चुका है। अनुवाद करने में लगे लोगों तथा अन्य बौद्ध विद्वानों की संगोष्ठी बोधगया में आयोजित की गई है, जिसमें अब तक किए गए अनुवाद कार्यों की समीक्षा की जा रही है।

संगोष्ठी में आए एक बौद्ध विद्वान ने बताया कि महात्मा बुद्ध के प्रवचन और मंत्र पहले संस्कृत और पालि भाषा में उपलब्ध थे। बाद में हिन्दुस्तान पर हुए आक्रमण के दौरान ये ग्रंथ नष्ट कर दिए गए। हालांकि उस दौरान इन प्रवचनों का तिब्बती भाषा में अनुवाद किया जा चुका था। उन्होंने बताया कि बुद्ध के प्रवचनों की कुल संख्या 84 हजार है जिसे ‘कंज्यूमर’ कहा जाता है। अब तक इसमें से सात हजार प्रवचनों का अंग्रेजी अनुवाद किया जा चुका है।

संगोष्ठी में आए हिमाचल प्रदेश की एक संस्था से जुड़े अजीइर विद्या ने बताया कि अनुवाद हो चुके प्रवचनों को ‘84 थाउजेंट’ नामक वेबसाइट पर अपलोड भी किया जा रहा है। वे कहते हैं कि इस संगोष्ठी का मुख्य उद्देश्य अनुवाद के क्रम में किसी तरह के संदेह या गलती तथा विवाद न हो इसके लिए विद्वानों की सहमति ले लेना है।

बोधगया के सिचेन मोनास्ट्री में हो रही संगोष्ठी के अंतिम दिन गुरुवार को सभी विद्वानों ने व्यापक विचार-विमर्श किया। अनुवादक समिति के एक सदस्य ने बताया कि अनुवाद कार्य में 140 अनुवादक लगे हुए हैं। इनमें कई देशों के लोग हैं। उन्होंने बताया कि यह बैठक प्रतिवर्ष होती है परंतु बोधगया में यह पहली बार आयोजित की गई है। बैठक में लामा सामदोंग रिनपोछे सहित कई तिब्बती लामा, इंगलैंड, फ्रांस, अमेरिका, थाईलैंड, नेपाल भारत सहित अन्य देशों के 35 से ज्यादा विद्वान शामिल हुए।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You