कार में रखे बैग पर है नजर, सावधान!

  • कार में रखे बैग पर है नजर, सावधान!
You Are HereNational
Monday, October 28, 2013-2:48 PM

नई दिल्ली : देश बंधु गुप्ता रोड इलाके में चालक को चकमा देकर एक युवक कार में रखा बैग उठाकर फरार हो गया। बैग में 80 हजार रुपए के साथ कई क्रेडिट कार्ड रखे थे।प्राथमिक जांच पर पुलिस अधिकारी वारदात के पीछे खट खट गैंग का हाथ होने का अंदेशा जता रहे हैं।

पुलिस के मुताबिक पीड़ित रविन्द्र गुप्ता रोहिणी में परिवार के साथ रहते है। शुक्रवार शाम साढ़े सात बजे वह तमिलनाडू में रहने वाले दोस्त सुरेश के साथ अपनी कार से जा रहे थे। जब वह प्रगति मैदान से डीबीजी रोड पुलिस स्टेशन के नजदीक पी पी ज्वैलर्स के पास पहुंचे । तभी एक युवक ने उनसे कहा कि अंकल कार की बोनट से तेल निकल रहा है। युवक की बात मानकर कार को सड़क किनारे लगाकर जब रविन्द्र और उसके दोस्त ने कार से उतारकर देखा तो बोनट से तेल निकल रहा था। जब वो दोनों बोनट देख रहे थे तभी उनकी कार की पिछली सीट पर रखा बैग उस युवक ने उड़ा लिया।

पिछली सीट पर बैग गायब देखकर दोनों भौचक्के रह गए। उन्होंने कार से नीचे उतारकर पहले उस युवक को इधर उधर देखा लेकिन वह वहां पर नहीं दिखा।उन्होंने तुरंत पुलिस कंट्रोल रूम को वारदात के बारे में सूचित किया। पुलिस ने तुरंत मौके पर पहुंचकर मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि बैग में 80 हजार रुपए,एटीएम कार्ड,एचडीएफसी का क्रेडिट कार्ड,पैन कार्ड आदि सामान रखा हुआ था। पुलिस का कहना है कि वारदात के पीछे खट खट गैंग का हाथ हो सकता है। जिसमें 10 साल से लेकर 35 साल तक के युवक वारदातों को योजनाबद्ध तरीके से अंजाम देते है।

नोटो से भरा बैग लेकर फरार:
आनंद पर्वत इलाके में बदमाश कार में रखा बैग निकालकर फरार हो गए। बैग में 14 लाख रुपए रखे हुए थे। जिनको लेकर पीड़ित प्लॉट खरीदने के लिए जा रहा था। पीड़ित का नाम नरेन्द्र सिंह है, जो नांगलोई इलाके में रहता है। वह इंद्रपुरी स्थित पोस्ट ऑफिस में पोस्ट मास्टर के तौर पर नौकरी करता है।

नरेन्द्र ने आनंद पर्वत पुलिस स्टेशन में रिपोर्ट दर्ज करवाते हुए बताया कि कुछ दिन पहले उसने चंद्र विहार इलाके में एक प्लॉट खरीदने के लिए प्लॉट के मालिक को बयाना दे रखा था। पूरी पेमेंट देने के लिए उसने अपने बड़े भाई जोगेन्द्र से 11 लाख 70 हजार रुपए उधार लिए थे।

रुपयों को बैग में रखकर वह अपने ऑफिस कार से आ गया था। ऑफिस आकर उसने अपने दोस्त प्रकाश से 3 लाख रुपए उधार मांगे थे। जब वह  प्रकाश के साथ इंद्रापुरी स्थित जखीरा रिंग रोड के पास से जखीरा फ्लाई ओवर की तरफ से जब वह जा रहा था। तभी मोटरसाइकिल चालक एक युवक ने उसको इशारा करते हुए कहा कि कार के टायर का पंचर हो गया है।

नरेन्द्र ने तभी चालक सीट पर रखे बैग को कपड़े से ढक दिया और डिग्गी में से जैक निकालकर स्टेपनी खोलने की कोशिश करने लगा। कुछ मिनटों बाद ही एक अंजान शख्स ने शोर मचाते हुए एक मोटरसाइकिल की तरफ इशारा करते हुए नरेन्द्र को कहा कि मोटरसाइकिल वाला कार में रखा बैग निकालकर भाग रहा है। काफी देर तक उसने कुछ वाहनों को रोकने की कोशिश की जिससे वह मोटरसाइकिल का पीछा कर पाता लेकिन किसी ने भी अपना वाहन नही रोका।  पुलिस अधिकारियों को शक है कि वारदात के पीछे पंचर गैंग का हाथ हो सकता है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You