चंबल का क्षेत्र दस्यु विहीन होने से मतदाता खुश

  • चंबल का क्षेत्र दस्यु विहीन होने से मतदाता खुश
You Are HereNational
Wednesday, October 30, 2013-11:37 AM

भिण्ड: मध्यप्रदेश के भिंड जिले में इस बार चुनाव में डकैतों का कहीं भी कोई फरमान जारी नहीं हो सकेगा क्योंकि इस बार चंबल के बीहड पूरी तरह दस्यु विहीन है। पुलिस सूत्रों के अनुसार  बाहुवली प्रत्याशी अपने पक्ष में वोट डलवाने के लिए पहले डकैतों को भारी रकम देकर अपने पक्ष कर लेते थे और फिर उनसे फरमान जारी करवा देते थे। चम्बल, कुंवारी, बेसली और पहुज नदियों के किनारे बसे ग्रामीण क्षेत्रों के मतदाता अपनी मर्जी से मतदान नहीं कर पाते थे लेकिन इस बार ऐसा नहीं होगा।

 

इस बार चम्बल पूरी तरह डकैत विहीन है कोई सूचीबद्ध गिरोह अब नहीं बचा है। चम्बल में आतंक का पर्याय रहे दस्यु सरगना निर्भय गुर्जर सलीम गुर्जर जगजीवन परिहार जैसे डकैतों ने अपने खौफ से चुनाव प्रभावित किए हैं। उक्त डकैतों गिरोहों का पुलिस ने सफाया कर दिया है तथा अरविन्द गुर्जर और रामआसरे उर्फ फक्कड़ ने आत्म समर्पण के बाद अब जेल में बंद हैं। भिण्ड जिले की सीमा उत्तरप्रदेश के आगरा, इटावा और जालौन जिले से मिलती है तो डकैत गिरोह आसानी से भिण्ड जिले की सीमा में आते-जाते थे।

 

इन सीमाओं से लगने वाले गांव के मतदाता अपनी मर्जी से मताधिकार का उपयोग नहीं कर पाते थे। नयागांव थाना क्षेत्र के सनावई द्वार ऊमरी थाना क्षेत्र के मढनई गुवरियाई बझाई जैसे करीबन दो दर्जन गांव ऐसे है जिनमें दस्यु दल मतदाताओं को फरमान जारी करते थे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You