LTC घोटाला: CBI ने JDU सांसद के खिलाफ दर्ज की FIR

  • LTC घोटाला: CBI ने JDU सांसद के खिलाफ दर्ज की FIR
You Are HereNational
Friday, November 01, 2013-6:06 PM

नई दिल्ली: सीबीआई ने फर्जी यात्रा दावे के घोटाले में जनता दल (यूनाइटेड) के राज्यसभा सदस्य अनिल कुमार साहनी के खिलाफ पहली प्राथमिकी दर्ज की है तथा उनके परिसरों सहित विभिन्न स्थलों पर छापे मारे हैं।

सीबीआई सूत्रों ने आज यहां बताया कि साहनी के अलावा एयर इंडिया कर्मचारी रूबिना अख्तर एवं लाजपत नगर स्थित ट्रेवल आपरेटर एयर क्रूज टै्रवल प्राइवेट लि. का नाम भी घोटाले की प्राथमिकी में लिया गया है। इस घोटाले में सरकार संचालित एयर इंडिया में यात्रा करने के लिए अवकाश यात्रा रियायत (एलटीसी) दावों में फर्जीवाड़ा किया गया।

सूत्रों ने बताया कि सीबीआई अधिकारियों का एक दल राज्यसभा सचिवालय गया और घोटाले के सिलसिले में संबद्ध रिकार्ड एकत्र किये जिसमें सरकार से लाखों रूपये के दावों में फर्जीवाड़ा किया गया। उन्होंने स्पष्ट किया कि यह तलाशी अभियान नहीं था।

सीबीआई के प्रवक्ता ने आज यहां बताया, ‘‘सीबीआई ने राज्यसभा के एक सदस्य के खिलाफ फर्जी एयर टिकट एवं बोर्डिंग पासों के जरिये फर्जी दावे करने के मामले में प्राथमिकी दर्ज की है।’’ सूत्रों ने बताया कि एजेंसी ने भ्रष्टाचार निरोधक कानून और भारतीय दंड संहिता की धाराओं के अंतर्गत मामला दर्ज किया है।

सूत्रों के अनुसार एलटीसी घोटाले के सिलसिले में जल्द ही कुछ और मामले भी दर्ज किए जा सकते हैं। एजेंसी ने केन्द्रीय सतर्कता आयोग से इस संबंध में जानकारी मिलने के बाद प्रारंभिक जांच शुरू की है। सीबीआई के सूत्रों ने बताया कि इस संबंध में प्राथमिकी दर्ज करने के बाद एजेंसी के दलों ने राज्यसभा सचिवालय, बिहार में साहनी के मुजफ्फरपुर स्थित आवास और यहां उनके कार्यालय, एयर इंडिया के यहां स्थित कार्यालय तथा टूर आपरेटर के कार्यालय पर छापेमारी की।

साहनी पर पोर्ट ब्लेयर जाने और वापसी के लिए दिसंबर 2012 में सात एयर टिकट के वास्ते नौ लाख रूपये का गलत दावा करने का आरोप लगाया गया है। उन्होंने अपने एवं अपने छह सहयोगियों के फर्जी एयर टिकट एवं बोर्डिंग पास के आधार पर ये दावे किये थे। इस मामले में साहनी की प्रतिक्रिया जानने के लिए किये फोन काल पर कोई जवाब नहीं दिया गया। घोटाले के बारे में उनका पक्ष जानने के लिए भेजे गये एसएमएस पर भी कोई प्रतिक्रिया नहीं की गयी।

इस मामले में ट्रैवल एजेंट ने भी कोई प्रतिक्रिया नहीं की। जिस महिला ने फोन उठाया, उसने अपनी पहचान बताने से इंकार कर दिया और फिर फोन करने का वादा किया। एयर इंडिया प्रवक्ता को भेजे गये एसएमएस का भी कोई उत्तर नहीं मिला। सभी सांसदों (लोकसभा एवं राज्यसभा) को एक साल में उनके, उनके परिवार के सदस्यों और सहयोगियों के लिए उनके चुनाव से क्षेत्र से घरेलू पर्यटन के लिए 34 नि:शुल्क वायु टिकट मिलते हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You