भाजपा के सत्ता में आने पर दुर्भावना से प्रेरित होकर काम नहीं करूंगा: हर्षवर्धन

  • भाजपा के सत्ता में आने पर दुर्भावना से प्रेरित होकर काम नहीं करूंगा: हर्षवर्धन
You Are HereNational
Tuesday, November 05, 2013-5:06 PM

नर्इ दिल्ली: दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विजय गोयल से अलग रूख अख्तियार करते हुए पार्टी के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार हर्षवर्धन ने स्पष्ट किया कि अगर विधानसभा चुनाव के बाद भाजपा सत्ता में आती है तब वह शीला दीक्षित के शासन के दौरान राष्ट्रमंडल खेल घोटाला और भ्रष्टाचार के अन्य मामलों की जांच का आदेश नहीं देंगे।
 
हर्षवर्धन ने कहा कि वह अतीत में झांकने और घोटालों की जांच करने की बजाए अपनी उर्जा दिल्ली को आधुनिक शहर बनाने में लगायेंगे। उन्होंने ने प्रेट्र से कहा, ‘‘ मेरे मन में काफी स्पष्ट तस्वीर है कि शहर के भविष्य के लिए क्या करना है। हम इन घोटालों का क्या करेंगे, अगर हम इसमें पड़ते हैं तब हम दिशा खो देंगे। मैं सकारात्मक चीजें करना चाहता हूं।’’
 
इससे पहले गोयल ने घोषणा की थी कि अगर भाजपा सत्ता में आई तब शीला दीक्षित के शासनकाल के दौरान राष्ट्रमंडल खेल घोटाला समेत कथित भ्रष्टाचार और वित्तीय अनियमितताओं की जांच की जायेगी। उन्होंने यह भी कहा था कि विभिन्न कथित घोटालों की जांच के लिए जवाबदेही आयोग गठित किया जायेगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You