पूर्व जज ने यौन शोषण मामले में कुछ मीडिया संस्थानों को भेजा कानूनी नोटिस

  • पूर्व जज ने यौन शोषण मामले में कुछ मीडिया संस्थानों को भेजा कानूनी नोटिस
You Are HereNational
Sunday, January 12, 2014-11:27 AM

नई दिल्ली: कानून की एक इंटर्न द्वारा उच्चतम न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश न्यायमूर्ति स्वतंत्र कुमार पर लगाए गए यौन उत्पीड़ऩ़ के मामले में कुछ मीडिया संस्थानों को कानूनी नोटिस भेजा है। न्यायमूर्ति स्वतंत्र कुमार ने अपने खिलाफ लगाये गए यौन उत्पीड़ऩ़ के आरोपों को झूठा बताते हुए कुछ मीडिया संस्थानों को इनके बारे में खबरें दिखाने के लिए आज रात कानूनी नोटिस भेजा, जिसमें उनसे 24 घंटे के भीतर माफी मांगने को कहा गया है। राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) के मौजूदा अध्यक्ष न्यायमूर्ति कुमार ने कहा कि नोटिस का पालन नहीं करने पर संस्थानों के खिलाफ उचित कार्यवाही की जा सकती है।

आपको बतां दे कि एक पूर्व इंटर्न ने आरोप लगाया है कि स्वतंत्र कुमार ने मई 2011 में अपने दफ्तर में उसका यौन उत्पीड़ऩ़ किया था। न्यायमूर्ति कुमार ने आरोपों को किसी किस्म की साजिश करार दिया है। उनकी ओर से वरिष्ठ वकील मुकुल रोहगती ने आज रात एक बयान में कहा कि अखबार और दोनों चैनलों ने तथ्यों का सत्यापन किए बिना न्यायाधीश की साख को क्षति पहुंचाई है। करांजावाला एंड कंपनी के माध्यम से भेजे गये नोटिस में कहा गया है कि न्यायमूर्ति स्वतंत्र कुमार के खिलाफ शिकायत उनके द्वारा एक अत्यधिक संवेदनशील न्यायाधिकरण की जिम्मेदारी पर प्रतिकूल असर डालने की गहरी साजिश है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You