खतरनाक फ्लैट्स में रह रहे हैं लोग

  • खतरनाक फ्लैट्स में रह रहे हैं लोग
You Are HereNcr
Sunday, January 12, 2014-4:15 PM

वेस्ट दिल्ली (राजन शर्मा): पश्चिमी दिल्ली के जाफरपुर स्थित राव तुला राम अस्पताल (आर.टी.आर.एम.) अस्पताल में डैंजर घोषित किए जा चुके क्वार्टर्स में वर्तमान में भी अस्पताल का स्टाफ रह रहा है। ऐसे में, इन क्वाटर्स में रहने वाले लोगों की जान को खतरा बना हुआ है, क्योंकि यह क्वाटर्स कभी भी बड़े हादसे का कारण  हो सकते हैं। इस मामले के सामने आने के बाद अब अस्पताल प्रशासन की कार्य प्रणाली पर सवाल खड़े होने लगे हैं।

लोक निर्माण विभाग ने वर्ष 2005 में अस्पताल में कर्मचारियों के लिए बनाए गए क्वार्टर्स को सर्वे के बाद डैंजर घोषित कर दिया था। इस पर कार्रवाई करते हुए प्रशासन ने यहां रह रहे कर्मचारियों को क्वार्टर्स खाली करने के निर्देश भी दे दिए थे, लेकिन प्रशासन की लापरवाही के कारण 2005 से 2007 के बीच भी अस्पताल में कर्मचारी इन क्वाटर्स में रहते रहे। इसके बाद एच.ओ.ओ. विभाग ने कार्रवाई करते हुए इन क्वार्टर्स  को खाली करा दिया था, लेकिन अब 7 साल बाद फिर इन क्वाटर्स में लोग रहने लगे हैं। जबकि प्रशासन का दावा है कि इन क्वार्टर्स  को रिपेयर करा दिया गया है।

रिपेयरिंग का फैसला असंवैधानिक
प्रशासन के दावे के अनुसार अगर इन क्वाटर्स की रिपेयरिंग करा दी गई है, तो प्रशासन का यह फैसला असंवैधानिक है। क्योंकि पीडब्ल्यूडी ने 2005 में इन्हें डैंजर घोषित कर दिया था। बावजूद इसके अस्पताल प्रशासन ने इनकी रिपेयरिंग के लिए 50 लाख रुपए के टैंडर जारी कर दिए थे। इसको लेकर विभाग की ओर से क्वाटर्स पर खर्च की जाने वाली रकम पर ऑडिट आब्जरवैसन लगा दिया था, जिसके बाद इन क्वाटर्स की रिपेयरिंग होने का फैसला ही असंवैधानिक माना जाता। ऐसे में, इनकी रिपेयरिंग कैसे की जा सकती है।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You