पार्टी के पास सत्ता छोडऩे के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं बचा था: भूषण

  • पार्टी के पास सत्ता छोडऩे के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं बचा था: भूषण
You Are HereNational
Saturday, February 15, 2014-1:58 PM

नई दिल्ली: आप नेता प्रशांत भूषण ने भाजपा और कांग्रेस को अरविंद केजरीवाल सरकार के गिरने के लिए जिम्मेदार ठहराते हुए आज कहा कि पार्टी के पास सत्ता छोडऩे के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं बचा था क्योंकि जनलोकपाल लागू करना उनकी शीर्ष प्राथमिकता थी। भूषण ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘शुरू से ही कांग्रेस और भाजपा इस विधेयक के खिलाफ थीं और इसी लिए उन्होंने सरकार का समर्थन नहीं किया। दोनों ही पार्टियां नहीं चाहती कि देश भ्रष्टाचार मुक्त हो।’’ उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी का गठन सत्ता पाने के लिए नहीं बल्कि भारत को एक भ्रष्टाचार मुक्त देश बनाने के लिए हुआ था। उन्होंने कहा, ‘‘आप का गठन भ्रष्टाचार को देश से जड़ से समाप्त करने के लिए हुआ था।

जनलोकपाल को विधानसभा में पारित कराना आप सरकार की शीर्ष प्राथमिकता थी। चूंकि हमें इस विधेयक को पारित नहीं करने दिया गया, हमारे पास सत्ता छोडऩे के अलावा अन्य कोई विकल्प नहीं बचा था।’’  केजरीवाल ने कल अपने पद से उस समय त्यागपत्र दे दिया था जब सरकार को बाहर से समर्थन दे रही कांग्रेस और विपक्षी भाजपा के विरोध के चलते उन्हें दिल्ली विधानसभा में जनलोकपाल विधेयक पेश करने नहीं दिया गया। भूषण ने कहा कि केजरीवाल के इस्तीफे के बाद अब गेंंद भाजपा और कांग्रेस के पाले में है और दोनों ही पार्टियां दिल्ली में सरकार बनाने का दावा पेश कर सकती हैं। उन्होंने कहा, ‘‘यदि कांग्रेस और भाजपा सरकार बनाने का दावा नहीं करना चाहती तो उपराज्यपाल के पास विधानसभा को भंग करने के अलावा अन्य कोई विकल्प नहीं होगा।’’ यह पूछे जाने पर कि क्या आप नेता अपनी जिम्मेदारियों से भाग रहे हैं, उन्होंने कहा, ‘‘हमारी सरकार दिल्ली में मोहल्ला सभा भी लागू करना चाहती थी। चूंकि कांग्रेस और भाजपा इस मॉडल के भी खिलाफ थी, ऐसी सूरत में पार्टी सरकार नहीं चला सकती।’’

उन्होंने कहा, ‘‘सरकार में पद प्राप्त करना हमारी पार्टी का उद्देश्य नहीं था। हमारी पार्टी का उद्देश्य व्यवस्था में बदलाव लाना था ,लेकिन हमें अपना उद्देश्य क्रियान्वित नहीं करने दिया गया, सरकार चलाने का कोई लाभ नहीं।’’ उन्होंने अपनी पूर्व सहयोगी किरण बेदी के ट्विट पर लिखे संदेश कि, ‘‘दिल्ली के मुख्यमंत्री ने इस्तीफा लोकपाल के लिए दिया या लोकसभा के लिए?’’ भूषण ने कहा कि वह एक भाजपा समर्थक बन गई हैं।


 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You