पूर्व सैनिकों की पंचायत बुलाई जाएगी: चौहान

  • पूर्व सैनिकों की पंचायत बुलाई जाएगी: चौहान
You Are HereNational
Sunday, February 23, 2014-5:05 PM

मुरैना: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि पूर्व सैनिकों के कल्याण की योजनाएं बनाने के उद्देश्य से उनकी पंचायत शीघ्र ही बुलाई जाएगी। चौहान ने कहा कि ग्वालियर चंबल क्षेत्र में पर्यटन के दो नए सर्किट बनाए जाएंगे और इनसे चिन्हित क्षेत्रों को जोड़ा और विकसित किया जाएगा। मुख्यमंत्री आज मुरैना में ‘आओ बनाएं अपना मध्यप्रदेश कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर सांसद एवं प्रदेश भाजपा अध्यक्ष नरेंद्र सिंह तोमर सामान्य प्रशासन एवं नर्मदा घाटी विकास राज्य मंत्री लाल सिंह आर्य सहित अन्य जन प्रतिनिधि भी उपस्थित थे।

 

चौहान ने इस अवसर पर 186 करोड़ की लागत के 225 निर्माण कार्य का शिलान्यास कर विभिन्न योजनाओं के हितग्राहियों को सहायता राशि भी वितरित की। उन्होंने मध्यप्रदेश भू-अभिलेख की बेवसाइट का शुभारंभ किया और भू-अभिलेखों के सेटेलाइट सर्वे की 300 करोड़ रुपये की परियोजना के एमओयू पर हस्ताक्षर भी करवाए। आपदा प्रबंधन में सुगम संचार व्यवस्था उपलब्ध करवाने के लिए हेम रेडियो तथा सांसद निधि से निर्मित चलित चिकित्सालय का शुभारंभ भी किया। इसके पूर्व मुख्यमंत्री ने मुरैना में साढ़े चार करोड़ की लागत से निर्मित शहीद पंडित रामप्रसाद बिस्मिल संग्रहालय का लोकार्पण भी किया।

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि चंबल क्षेत्र का गौरवमयी इतिहास रहा है। यहां के अनेक वीरों ने देश को आजाद करवाने में अपने प्राणों की आहुति दी है। आज भी देश की सीमाओं की रक्षा में यहां के नौजवान अपनी सेवाएं दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि चंबल की महत्ता को बढ़ावा देने राज्य शासन के संस्कृति एवं पर्यटन विभाग द्वारा हर वर्ष चम्बल महोत्सव मनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि मुरैना में अमर शहीद पंडित रामप्रसाद बिस्मिल के नाम से नव निर्मित संग्रहालय की देख रेख पर्यटन विकास निगम करेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि क्षेत्र के चिन्हित पर्यटन स्थलों को विकसित किया जाएगा तथा यहां निवेश करने वालों को शासन सहूलियतें देगा।

 

उन्होंने कहा कि मुरैना को नगर निगम बनाने की कार्रवाई जारी है। अगला चुनाव नगर निगम के रूप में ही होगा। उन्होंने कहा कि चंबल क्षेत्र में नए उद्योग लाने के प्रयास किए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि चंबल क्षेत्र का गौरवमयी इतिहास रहा है। यहां के अनेक वीरों ने देश को आजाद करवाने में अपने प्राणों की आहुति दी है। आज भी देश की सीमाओं की रक्षा में यहां के नौजवान अपनी सेवाएं दे रहे हैं. उन्होंने कहा कि चंबल की महत्ता को बढ़ावा देने राज्य शासन के संस्कृति एवं पर्यटन विभाग द्वारा हर वर्ष चम्बल महोत्सव मनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि मुरैना में अमर शहीद पंडित रामप्रसाद बिस्मिल के नाम से नव निर्मित संग्रहालय की देख-रेख पर्यटन विकास निगम करेगा।

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि क्षेत्र के चिन्हित पर्यटन स्थलों को विकसित किया जाएगा तथा यहां निवेश करने वालों को शासन सहूलियतें देगा। उन्होंने कहा कि मुरैना को नगर निगम बनाने की कार्यवाही जारी है। अगला चुनाव नगर निगम के रूप में ही होगा। उन्होंने कहा कि चंबल क्षेत्र में नए उद्योग लाने के प्रयास किए जा रहे हैं जिनमें 50 प्रतिशत स्थानीय लोगों को रोजगार सुनिश्चित किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा चंबल क्षेत्र की खेती को लाभदायी बनाने के लिए स्थानीय स्तर पर योजना बनेगी। किसान परम्परागत खेती के साथ व्यवसायिक खेती कर ज्यादा लाभ कमा सकेंगे।

 

सांसद तोमर ने कहा कि राज्य शासन द्वारा जिस तरह पूरे प्रदेश में विकास और जन कल्याण के कार्य किए गए हैं उनसे चंबल क्षेत्र भी अछूता नहीं रहा है। यहां पर पिछले पांच साल में 2000 करोड़ रुपये से ज्यादा के विकास कार्य हुए हैं। जहां पहले मात्र 3500 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई होती थी वहीं अब क्षेत्र में सिंचाई क्षमता बढ़कर डेढ़ लाख हेक्टेयर हो गई है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You