'आप' के भीतर RTI लागू करा पाने में नाकाम रहे केजरीवाल, हुई आलोचना

  • 'आप' के भीतर RTI लागू करा पाने में नाकाम रहे केजरीवाल, हुई आलोचना
You Are HereNational
Tuesday, February 25, 2014-10:21 PM

नई दिल्ली: दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को आम आदमी पार्टी (आप) के भीतर सूचना का अधिकार (आरटीआई) कानून लागू करा पाने में कथित तौर पर नाकाम रहने के कारण आज आलोचना का सामना करना पड़ा। दिल्ली विधानसभा चुनाव के दौरान ऑटो ड्राइवरों को ‘आप’ से जोडऩे में अहम भूमिका निभाने का दावा करने वाले राकेश अग्रवाल ने आज कहा कि आरटीआई आंदोलन के ‘‘तथाकथित हीरो’’ कहे जाने के बावजूद केजरीवाल की पार्टी आरटीआई कानून के तहत सवालों का जवाब देने से बचती है।

‘न्यायभूमि’ नाम के एक गैर-सरकारी संगठन के सचिव अग्रवाल ने कहा, ‘‘30 अक्तूबर 2013 के बाद से अब तक मैंने ‘आप’ को 13 आरटीआई आवेदन भेजे पर किसी भी आवेदन को स्वीकार नहीं किया गया। दो आवेदन के खिलाफ अपील दायर की गई पर उन पर भी कोई जवाब नहीं मिला।’’ अग्रवाल ने कहा कि पिछले साल पार्टी के नेता प्रशांत भूषण और केजरीवाल ने राजनीतिक दलों के भीतर आरटीआई कानून लागू करने की वकालत की पर ‘आप’ अब आरटीआई कानून के तहत सूचना देने से इनकार कर रही है। उन्होंने सवाल किया, ‘‘आखिर केजरीवाल क्यों नहीं बताते कि उनकी रैली पर कितने पैसे खर्च हुए जबकि वह दावा करते हैं कि ‘आप’ को जनता से पैसे चंदे मिल रहे हैं ?’’

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You