ससुराल में प्यार मिले इतना, मायके की कभी याद न आए : भाजपा

  • ससुराल में प्यार मिले इतना, मायके की कभी याद न आए : भाजपा
You Are HereChhattisgarh
Sunday, March 02, 2014-8:24 AM

रायपुर: छत्तीसगढ़ में भाजपा और करुणा के बयानों में तल्खी के साथ आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है। भाजपा को मायका और कांग्रेस को ससुराल बताकर आक्रमण कर रही करुणा शुक्ला के बयानों पर चुटकी लेते हुए भाजपा प्रवक्ता शिवरतन शर्मा ने कहा कि ससुराल में उन्हें प्यार मिले इतना कि मायके की कभी याद न आए।

शर्मा ने शुक्ला के उस बयान को बेबुनियाद बताया जिसमें उन्होंने कहा कि भाजपा में उन्हें अपमानित किया जा रहा था। राजनीति में किसी नेता को पद से हटाना उनका अपमान नहीं होता, पद से हटाना और दूसरों को पद पर बैठाना राजनीति की सतत प्रक्रिया है। इससे ही नए कार्यकतार्ओं को काम का अवसर मिलता है। इसको मान-अपमान से जोड़कर देखना उचित नहीं है।

शर्मा ने कहा कि भाजपा में योग्यताओं के आधार पर सभी को अवसर दिया जाता है। कई बार ऐसा होता है कि कार्यकर्ता को अपने आकलन में भ्रम हो जाता है इसलिए उसे लगता है कि उन्हें अवसर से वंचित किया गया है। लेकिन निष्ठावान कार्यकर्ता कभी विद्रोह नहीं करता। दुर्भाग्य से शुक्ला के मामले में ऐसा नहीं हुआ और उन्होंने पार्टी इस मुगालते में छोड़ दी कि उसके बिना भारतीय जनता पार्टी नेस्तनाबूद हो जाएगी। यह उनका भ्रम है।

शर्मा ने कहा कि वे करूणा शुक्ला के कृत्यों से काफी हतप्रभ हैं। वे बार-बार विचार कर रहे हैं कि कांग्रेस को पानी पी-पी कर कोसने वाली शुक्ला किस मुंह से कांग्रेस के कुकृत्यों की तारीफ करेंगी। जिस भाजपा ने एक गृहिणी को घर से उठाकर राष्ट्रीय स्तर का नेता बनाया हो यदि वे भाजपा पर उपेक्षा का आरोप लगाए तो यह काफी आश्चर्यजनक है।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You