शंकराचार्य पहाड़ी का नाम बदलने का कोई प्रस्ताव नहीं: उमर

  • शंकराचार्य पहाड़ी का नाम बदलने का कोई प्रस्ताव नहीं: उमर
You Are HereJammu Kashmir
Sunday, March 16, 2014-3:15 PM

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने आज स्पष्ट किया कि यहां स्थित शंकराचार्य पहाड़ी का नाम बदलने का कोई प्रस्ताव नहीं है जहां पर भगवान शिव का मंदिर स्थित है।

उमर ने ट्विटर पर लिखा, ‘‘मैं स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि राज्य सरकार के पास श्रीनगर स्थित शंकराचार्य पर्वत का नाम बदलने का कोई प्रस्ताव नहीं है।’’ उमर ने कहा कि वह इस मुद्दे पर चर्चा से बाहर रहना चाहते हैं क्योंकि यह केवल ‘‘कल्पना’’ पर आधारित है। 

उन्होंने कहा, ‘‘मैं इस चर्चा से बाहर रहना चाहता हूं क्योंकि यह कुछ बहुत सक्रिय कल्पनाओं की झूठी कहानियों पर आधारित है, ऐसी कोई सच्चाई नहीं थी।’’ मुख्यमंत्री ने कहा कि वह यह नहीं समझ पा रहे हैं कि यह मुद्दा क्यों उठाया गया क्योंकि पहाड़ी का नाम बदलने का कोई आधार नहीं था जिसके शीर्ष पर भगवान शिव का मंदिर है। 

उन्होंने कहा, ‘‘एएसआई (भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण) से हुई बातचीत के आधार पर मैंने पता लगाया है कि उनके पास ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं है। इसलिए मुझ नहीं पता कि यह अफवाह क्यों है।’’ उमर ने कहा कि शंकराचार्य पहाड़ी को कई अन्य समानांतर नामों से जाना जाता रहा है और ऐसा आगे भी जारी रहेगा। यह ऐसा अकेला स्थान नहीं है जिसे एक से अधिक नामों से जाना जाता है।

उन्होंने कहा, ‘‘इसलिए कृपया क्या हम इस अनावश्यक नौटंकी पर विराम लगा सकते हैं और ऐसा कोई मुद्दा खड़ा करना बंद करें जहां कोई मुद्दा नहीं है। आप उसे जो चाहे कहकर पुकारिये।’’मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के समक्ष हाल के दिनों में कुछ वास्तविक मुद्दे हैं जिसमें जीवन और मौत का प्रश्न जुड़ा हुआ है। 

 
यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You