<

सपा ने बंद कर दी कांशीराम की याद में चलाई योजनाएं: मायावती

  • सपा ने बंद कर दी कांशीराम की याद में चलाई योजनाएं: मायावती
You Are HereUttar Pradesh
Saturday, March 15, 2014-8:51 PM

लखनऊ/नई दिल्ली: उत्तर-प्रदेश में जब बसपा सरकार थी तब तक सरकार ने कांशीराम की स्मृति में जनहित व जन-कल्याण की अनेक महत्वपूर्ण योजनाएं संचालित की और विभिन्न संस्थानों एवं पुरस्कारों का नामकरण भी उनके नाम पर किया गया। इन्हें राजनीतिक द्वेष व दुर्भावना के तहत वर्तमान सपा सरकार एक-एक करके बन्द करती जा रही है। यह बात शनिवार को उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने शनिवार को नई दिल्ली में बहुजन प्रेरणा केन्द्र में कही। वह यहां दिवंगत कांशीराम की 80 जयंती पर आयोजित श्रद्धाजंलि कार्यक्रम में बोल रही थी।

उन्होंने कहा कि कांशीराम के नेतृत्व में बसपा आंदोलन के तहत किए गए प्रयासों के कारण ही देश में आबादी के लिहाज से सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में वर्ष 2007 में चौथी बार बसपा अपने बूते पर पूर्ण बहुमत के साथ सत्ता में आई। कांशीराम की याद में बसपा की सरकार ने सभी जिलों में मान्यवर कांशीराम जी शहरी गरीब आवास योजना संचालित की। लखनऊ में निर्मित भव्य मान्यवर कांशीराम जी ग्रीन (इको) गार्डेन जनता को समर्पित किया गया है। इसके साथ ही, लखनऊ में ‘मान्यवर कांशीराम जी उर्दू-अरबी-फारसी विश्वविद्यालय’ की स्थापना की गई, जिसका नाम सपा सरकार ने द्वेष के कारण बदल दिया है।

माया ने कहा कि शहरों में दलित-बाहुल्य बस्तियों की खराब हालत में सुधार लाने व इन बस्तियों में अन्य बस्तियों की तरह सभी जरूरी बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिये बसपा सरकार द्वारा लगभग 2,000 करोड़ रुपये की लागत वाली अति महत्वाकांक्षी ‘मान्यवर कांशीराम जी शहरी दलित बाहुल्य बस्ती समग्र विकास योजना’ संचालित की गयी। तत्कालीन बसपा सरकार ने कांशीराम के नाम पर जनपद कांशीराम नगर का गठन भी किया गया, जिसका नाम अब सपा सरकार द्वारा बदल कर कासगंज कर दिया गया है।

उन्होंने कहा कि सहारनपुर में कांशीराम के नाम पर स्थापित राजकीय मेडिकल कॉलेज का भी नाम सपा सरकार द्वारा बदल दिया गया है। उन्होंने कहा कि बसपा सरकार ने कांशीराम के जन्मदिन 15 मार्च एवं उनके परिनिर्वाण दिवस 9 अक्टूबर को प्रदेश सरकार द्वारा सार्वजनिक अवकाश घोषित किया, जिसे भी उत्तर प्रदेश सपा सरकार ने समाप्त कर इस दुर्भावनापूर्ण कारवाई को अपनी उपलब्धियों में शामिल कर लिया है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You