हमें सिर्फ घबराने से बचने की जरूरत: जडेजा

  • हमें सिर्फ घबराने से बचने की जरूरत: जडेजा
You Are HereSports
Thursday, January 30, 2014-1:48 PM

वेलिंगटन: भारतीय ऑल राउंडर रविंद्र जडेजा पांचवें और अंतिम वनडे में सांत्वना जीत पर निगाह लगाए हैं, उन्होंने आज कहा कि साथी खिलाडिय़ों को ‘छोटी गलतियों’ पर अंकुश लगाने के लिए घबराने से बचने की जरूरत है जिसके कारण उन्हें न्यूजीलैंड के खिलाफ श्रृंखला गंवानी पड़ी।

जडेजा ने कल यहां होने वाले पांचवें वनडे से पहले अपनी टीम के साथियों का बचाव करते हुए कहा, ‘‘सिर्फ इतना है कि हम थोड़ा घबरा गए और हमें इन छोटी गलतियों का प्रतिशत थोड़ा कम करना होगा। मुझे नहीं लगता कि इसमें कोई बड़ी परेशानी है कि हमारी बल्लेबाजी और गेंदबाजी कारगर क्यों नहीं हो रही। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमें सिर्फ घबराने से बचने की जरूरत है। हम सकारात्मक नतीजे हासिल कर सकते हैं। ’’

जडेजा ने कहा कि टीम अब तक इस निराशाजनक दौरे में चीजें बदलने के लिए इस मैच में जीत के लिए बेताब है। टीम को 0-4 की शर्मनाक हार से बचने के लिए इस मैच में जीत दर्ज करने की जरूरत है।

उन्होंने कहा, ‘‘हम जीतना चाहते हैं। हमें टेस्ट श्रृंखला के मद्देनजर मनोबल जुटाने के लिए यह मैच जीतना होगा और दौरे में आगे बढऩा होगा। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘हमें सकारात्मक होना होगा और अपना शत प्रतिशत देना होगा। इसके बारे में सोचने के लिए कुछ भी नहीं बचा है। हम अपनी काबिलियत जानते हैं, बीते समय में भी हमने ऐसा किया है, विदेशी सरजमीं पर भी। ’’

जडेजा ने कहा, ‘‘मुझे नहीं लगता कि दोनों टीमें इस समय जो कर रही हैं, उसमें कोई बड़ा अंतर है। यह सिर्फ छोटी चीजों के बारे में है। वनडे क्रिकेट में, दो-तीन ओवर अंतर पैदा कर सकते हैं। अगर आपने इसमें रन गंवा दिए या फिर इस दौरान आप रन नहीं जुटा सके, इससे अंतर आ जाता है। हमारे लिए यही समस्या है और हमें ऐसे समय में गलतियों से बचना होगा। ’’

श्रृंखला में शुरू में सांमजस्य बिठाने के बाद जडेजा पिछले दो मैचों में लय में आ गए हैं। उन्होंने ईडन पार्क में आर अश्विन के साथ अच्छी साझेदारी की और फिर तीसरे वनडे में अकेले दम पर मैच टाई कराया तथा टीम को श्रृंखला में बनाऐ रखा था।

टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने भारतीय गेंदबाजों की काफी आलोचना की है, उन्होंने चौथे वनडे में हार के लिये तेज गेंदबाजों को जिम्मेदार ठहराया था। हालांकि भारतीय बल्लेबाज भी अच्छा प्रदर्शन करने में असफल रहे हैं।

जडेजा ने कहा, ‘‘यह हालात पर निर्भर करता है। क्रिकेट में अगर आपको विकेट से कुछ मदद मिल रही है तो गेंदबाज विकेट लेने और विपक्षी टीम को दबाव में डालने के बारे में सोचता है। अगर विकेट से ऐसा कुछ नहीं हो रहा तो गेंदबाज हमेशा सोचेगा कि उन्हें बाउंड्री नहीं देनी चाहिए। ’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You