उतार-चढ़ाव भरे कारोबार में सेंसेक्स, निफ्टी लगभग स्थिर बंद

Edited By jyoti choudhary,Updated: 11 Jun, 2024 03:34 PM

the market closed with a slight decline bse at the level of 76456

स्थानीय शेयर बाजार मंगलवार को उतार-चढ़ाव भरे कारोबार के बीच किसी खास उत्प्रेरक के अभाव में लगभग स्थिर रुख के साथ बंद हुए। बीएसई का 30 शेयरों पर आधारित सूचकांक सेंसेक्स अधिकांश समय तक सकारात्मक दायरे में रहने के बाद अंत में 33.49 अंक यानी 0.04...

मुंबईः स्थानीय शेयर बाजार मंगलवार को उतार-चढ़ाव भरे कारोबार के बीच किसी खास उत्प्रेरक के अभाव में लगभग स्थिर रुख के साथ बंद हुए। बीएसई का 30 शेयरों पर आधारित सूचकांक सेंसेक्स अधिकांश समय तक सकारात्मक दायरे में रहने के बाद अंत में 33.49 अंक यानी 0.04 प्रतिशत की मामूली गिरावट के साथ 76,456.59 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह 370.45 अंक यानी 0.48 प्रतिशत बढ़कर 76,860.53 अंक पर पहुंच गया था। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का सूचकांक निफ्टी अस्थिरता से भरे कारोबार में 5.65 अंक यानी 0.02 प्रतिशत की मामूली बढ़त के साथ 23,264.85 अंक पर बंद हुआ। इसके एक दिन पहले सोमवार को सेंसेक्स और निफ्टी ने शुरुआती कारोबार में अपने सर्वकालिक उच्चतम स्तर को छुआ था। हालांकि, बाद में दोनों सूचकांक गिरावट के साथ बंद हुए थे। 

जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘‘एक उल्लेखनीय उछाल के बाद घरेलू बाजार स्थिर हो गया है, और उत्प्रेरक घटनाओं का इंतजार कर रहा है। सरकार गठन से जुड़ी अनिश्चितताएं दूर होने के साथ अब फिर से वैश्विक और घरेलू संकेतकों पर ध्यान चला गया है।'' सेंसेक्स में शामिल कंपनियों में कोटक महिंद्रा बैंक, एशियन पेंट्स, रिलायंस इंडस्ट्रीज, आईटीसी, सन फार्मा, आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक और जेएसडब्ल्यू स्टील सबसे ज्यादा गिरावट के साथ बंद हुए। दूसरी तरफ लार्सन एंड टुब्रो, टाटा मोटर्स, मारुति, एनटीपीसी, महिंद्रा एंड महिंद्रा और अल्ट्राटेक सीमेंट के शेयर बढ़त के साथ बंद हुए। व्यापक बाजार में बीएसई स्मॉलकैप सूचकांक 0.95 प्रतिशत चढ़ गया, जबकि मिडकैप में 0.74 प्रतिशत की तेजी रही। क्षेत्रवार सूचकांकों में दूरसंचार खंड में सर्वाधिक 1.93 प्रतिशत और तेल एवं गैस खंड में 1.84 प्रतिशत की बढ़त रही। दूसरी तरफ धातु, एफएमसीजी और टिकाऊ उपभोक्ता उत्पाद खंडों में गिरावट रही। 

रेलिगेयर ब्रोकिंग लिमिटेड में वरिष्ठ उपाध्यक्ष (शोध) अजित मिश्रा ने कहा, ‘‘बाजार एक दायरे में सीमित रहे और सोमवार के रुझानों को ही कमोबेश कायम रखा। सपाट शुरुआत के बाद निफ्टी ने रफ्तार पकड़ी थी लेकिन ऊंचे स्तर पर मुनाफावसूली होने से यह अपनी सारी बढ़त गंवा बैठा।'' एशिया के अन्य बाजारों में दक्षिण कोरिया का कॉस्पी और जापान का निक्की बढ़त में रहे जबकि चीन का शंघाई कम्पोजिट और हांगकांग का हैंगसेंग गिरावट के साथ बंद हुए। यूरोपीय बाजार गिरावट के साथ कारोबार कर रहे थे।

विदेशी निवेशकों ने 2,572.38 करोड़ रुपए के शेयर खरीदे

 

NSE के प्रोविजनल डेटा के अनुसार विदेशी संस्थागत निवेशकों (FIIs) ने 10 जून को 2,572.38 करोड़ रुपए के शेयर खरीदे। यह लगातार दूसरा कारोबारी दिन था जब विदेशी निवेशकों ने खरीदारी की। वहीं घरेलू संस्थागत निवेशकों (DIIs) ने 2,764.46 करोड़ रुपए के शेयर खरीदे।

सोमवार को अमेरिकी बाजार तेजी के साथ बंद हुआ

अमेरिकी बाजार में सोमवार को तेजी रही। डॉओ जोन्स एवरेज 69.05 अंक या 0.18% की तेजी के साथ 38,868 पर, एसएंडपी 500 13.8 अंक या 0.26% की उछाल के सात 5,360 पर और नैस्डैक कंपोजिट 59.40 अंक या 0.35% चढ़कर 17,192 के स्तर पर बंद हुआ।

सोमवार को ऑलटाइम हाई बनाकर गिरा था बाजार

हफ्ते के पहले कारोबारी दिन यानी, 10 जून को सेंसेक्स 386 अंक चढ़कर 77,079 के ऑलटाइम हाई पर पहुंच गया था। निफ्टी में भी 121 अंकों की तेजी रही, यह भी 23,411 के रिकॉर्ड हाई पर पहुंचा। हालांकि, दिनभर के कारोबार के बाद बाजार गिरावट में बंद हुआ। सेंसेक्स 203 अंक की गिरावट के साथ 76,490 के स्तर पर बंद हुआ। वहीं, निफ्टी भी 30 अंक की गिरावट के साथ 23,259 के स्तर पर बंद हुआ। सेंसेक्स के 30 शेयरों में से 17 में गिरावट और 13 में तेजी रही। आईटी शेयरों में सबसे ज्यादा बिकवाली देखने को मिली।

Related Story

Trending Topics

India

97/2

12.2

Ireland

96/10

16.0

India win by 8 wickets

RR 7.95
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!