NATO की यूक्रेन को हरी झंडी- "रूस की Red Line कर दो पार, इस्तेमाल करो लंदन से मिले हथियार"

Edited By Tanuja,Updated: 25 May, 2024 01:55 PM

nato gives ukraine green light to go for russia

यूक्रेन पर रूस के जारी हमलों के बीच NATO का बड़ा बयान सामने आया है। नाटो सहयोगी देश ने यूक्रेन को  रूस की लाल रेखा को पार...

इंटरनेशनल डेस्कः यूक्रेन पर रूस के जारी हमलों के बीच NATO का बड़ा बयान सामने आया है। नाटो सहयोगी देश ने यूक्रेन को  रूस की लाल रेखा को पार करने के लिए हरी झंडी दे दी है। यूनाइटेड किंगडम के विदेश सचिव डेविड कैमरन ने कीव की यात्रा के दौरान कहा है कि यूक्रेन को लंदन से प्राप्त हथियारों के साथ रूसी क्षेत्र पर लक्ष्य पर हमला करने के लिए स्वतंत्र होना चाहिए। रॉयटर्स के अनुसार, कैमरन ने कीव में सेंट माइकल कैथेड्रल के बाहर कहा, "यूक्रेन के पास यह अधिकार है। जिस तरह रूस यूक्रेन के अंदर हमला कर रहा है,  यूक्रेन को  भी अपनी रक्षा सुनिश्चित करने की आवश्यकता  है।"  

PunjabKesari

उधर, नाटो के महासचिव ने जेन्स स्टोलटेनबर्ग कल डोनेट्स्क में तैनात रूसी मिसाइल प्रणालियों को हटाने के बाद यूक्रेनी आक्रामकता को प्रोत्साहित करने के लिए  कहा कि "यह यूक्रेन के खिलाफ रूस का आक्रामक युद्ध है। यूक्रेन को अपनी रक्षा करने का अधिकार है।"  इसमें रूस में ठिकानों पर हमले भी शामिल हैं।"बता दें कि यूक्रेन अपने राजनयिक प्रयासों पर ध्यान केंद्रित कर रहा है ताकि वह अपने सहयोगियों को रूसी धरती पर लक्ष्यों के खिलाफ अपनी सेना को नाटो हथियार का उपयोग कर सके।

 

महीनों की बातचीत के बाद कीव अतीत में पश्चिम में अपने साझेदारों द्वारा उस पर लगाई गई लाल रेखाओं को हटाने में सफल रहा है।  बता दें कि NATO एक उत्तरी अटलांटिक संधि संगठन एक सैन्य गठबंधन है, जिसकी स्थापना 4अप्रैल 1949 को हुई। इसका मुख्यालय ब्रुसेल्स में है। NATO  मे ब्रिटेन, अमेरिका तुर्, कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इटली, स्पेन और तुर्केय शामिल हैं 

PunjabKesari

यूक्रेन के दूसरे सबसे बड़े शहर खार्किव पर नए रूसी हमले ने संयुक्त राज्य अमेरिका और यूरोप की आशंकाओं को दूर करने के लिए यूक्रेनी राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की के राजनयिक अभियान को तेज कर दिया है । पिछले सप्ताह से, ज़ेलेंस्की ने कई साक्षात्कार दिए हैं जिसमें उन्होंने यूक्रेन को अपनी सीमाओं से परे अपनी रक्षा करने में सक्षम होने की आवश्यकता पर बल दिया है। व्हाइट हाउस को पिछले सप्ताह कीव से रूसी क्षेत्र के खिलाफ अमेरिकी हथियारों और अन्य सहायता का उपयोग करने का औपचारिक अनुरोध प्राप्त हुआ था, ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ के अध्यक्ष चार्ल्स क्यू. ब्राउन ने मीडिया को इसकी पुष्टि की।

PunjabKesari

 ब्राउन ने यह बताने से इनकार कर दिया कि यूक्रेन रूस में क्या कार्रवाई करने में सक्षम होने के लिए कह रहा है, लेकिन उनके शब्दों की व्याख्या दुश्मन के ठिकानों के स्थान पर अमेरिकी उपग्रहों से जानकारी से जुड़े अनुरोध के रूप में की जा सकती है। पेंटागन द्वारा प्रदान की गई खुफिया जानकारी यूक्रेन के अंदर रूसी सैनिकों और सैन्य प्रतिष्ठानों के स्थान की पहचान करने में महत्वपूर्ण रही है, लेकिन इसने अब तक रूसी धरती पर यह डेटा प्रदान करने से परहेज किया है। इंस्टीट्यूट फॉर द स्टडी ऑफ वॉर जैसे पश्चिमी संघर्ष विश्लेषण केंद्रों ने नोट किया है कि सीमा पार जवाब देने में यूक्रेन की असमर्थता उसकी सेना को खार्किव में आक्रामक को रोकने के लिए कमजोर स्थिति में रखती है इसलिए उसे अब रूस के खिलाफ नाटो के हथियार इस्तेमाल करने कू छूट दे दी गई है। 

 

Related Story

Trending Topics

India

97/2

12.2

Ireland

96/10

16.0

India win by 8 wickets

RR 7.95
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!