अनजाने में हुई गलती को गंभीर अपराध से अलग करने की जरुरत: सेबी

  • अनजाने में हुई गलती को गंभीर अपराध से अलग करने की जरुरत: सेबी
You Are HereBusiness
Sunday, December 29, 2013-3:27 PM

मुंबई: सेबी भेदिया कारोबार के खतरे से निपटने के लिए जल्दी ही नए मानदंड लागू करेगी जो कंपनी के शीर्ष कार्यकारियों और अन्य संबद्ध इकाइयों द्वारा सूचीबद्ध कंपनियो में शेयर कारोबार के दौरान अनजाने में हुई गलती को गंभीर अपराध से स्पष्ट तौर पर अलग करेगा। सेबी अध्यक्ष यू के सिन्हा ने कहा कि नए मानदंड को विशेषज्ञों की समिति के सुझाव और इस मामले में जनता से मिली टिप्पणी के आधार पर अंतिम स्वरूप दिया जा रहा है। इससे भेदिया कारोबार को नियंत्रित करने और रोकने की प्रणाली मजबूत होगी। साथ ही इससे कंपनी कार्यकारियों, प्रवर्तकों और अन्य के लिए कारोबारी नियम और स्पष्ट होंगे।

ये नए नियम करीब दो दशक पुराने भेदिया कानून की जगह लेंगे। सेबी द्वारा गठित विशेषज्ञों की समिति के सुझाव पर तैयार मानदंडों के मसौदे पर 31 दिसंबर तक इस पर सार्वजनिक टिप्पणी मांगी गई है। सिन्हा ने कहा ‘‘इसका लक्ष्य है सभी अस्पष्ट नियमों में स्पष्टता लाना और स्पष्टता प्रदान करने से अनजाने में होने वाली गलतियों को टाला जा सकता है।’’
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You