बच्चो के टी.वी और मोबाइल इस्तेमाल करने पर बने नियम

  • बच्चो के टी.वी और मोबाइल इस्तेमाल करने पर बने नियम
You Are HereInternational
Tuesday, October 29, 2013-1:37 PM

न्यूयार्क: टेलीविजन और मोबाइल आदि की लत से बच्चों को हो रहे नुकसान से चिंतित बाल रोग विशेषज्ञों ने अभिभावकों को अपने बच्चों के मीडिया के इस्तेमाल की योजना तैयार करके स्पष्ट नियम बनाने की सलाह दी है। संचार एवं मीडिया पर अमेरिकी बाल रोग विशेषज्ञ अकादमी परिषद ने अपने नीति दस्तावेज में कहा कि अभिभावकों को इस योजना में यह शामिल करना चाहिए कि बच्चे प्रतिदिन एक या दो घंटे से ज्यादा समय स्क्रीन के सामने न बिताए। दस्तावेज की मुख्य लेखिका डा. मारजोरी होगान ने कहा हम मीडिया के विरोधी नहीं हैं। लेकिन मुख्य सवाल यह है कि हम इसका बेहतरी के लिए कैसे इस्तेमाल कर सकते हैं।

होगान ने कहा मीडिया बच्चों के जीवन पर सकारात्मक असर भी डाल सकता है। कुछ टेलविजन कार्यक्रम बच्चों में दया और सहानुभूति जैसे गुणों का विकास करने में मददगार होते हैं तथा लंबी बीमारी के कारण स्कूल न जाने वाले बच्चों की पढ़ाई में भी यह कार्यक्रम मददगार होते हैं। किशोरों में दोस्तों से संपर्क में रहने से सामाजिकता के गुणों का विकास होता है। लेकिन टेलीविजन समेत विभिन्न मीडिया उपकरणों की लत से मोटापा, आक्रामकता, नींद तथा स्कूलों में व्यवहारजनित अन्य समस्याएं पैदा हो सकती हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You