सीरिया में 11 हजार से अधिक बच्चे मारे गए

  • सीरिया में 11 हजार से अधिक बच्चे मारे गए
You Are HereInternational
Sunday, November 24, 2013-3:17 PM

नर्इ दिल्ली: सीरिया में करीब तीन वर्ष के गृहयुद्ध के दौरान 11 हजार से अधिक बच्चे मारे गए हैं।  हाल ही में जारी एक रिपोर्ट के अनुसार वहां छोटे बच्चे को जानबूझकर निशाना बनाया जा रहा है।  लंदन स्थित रिसर्च ग्रुप की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि वहां एक वर्ष के बच्चों को यातनाएं दी जा रही है और उन्हें मारा जा रहा है।  अधिकतर बच्चों की मौतें रिहायशी इलाकों में बमबारी के कारण हुर्इ है। रिपोर्ट के सह लेखक हाना सलमा ने कहा कि जिस तरह से सीरिया में बच्चों को निशाना बनाया जा रहा है वह काफी विचलित कर देने वाला है।

 सीरिया में तीन वर्षों में 17 वर्ष से कम उम्र के 11420 बच्चे मारे गए हैं जिनमें से 309 बच्चे बंदूकधारियों का निशाना बने हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि 764 बच्चे अनायास ही मारे गए जबकि शिशुओं सहित 100 से अधिक बच्चों को प्रताड़ित किया गया।  इन हमलों में लडकियों की अपेक्षा लडकों को ज्यादा निशाना बनाया गया है।

सर्वाधिक हत्याएं अलप्पों में हुयी है जहां 2223 बच्चे मारे गए ये आंकडे़ सीरिया में हो रही मौतों पर निगरानी रखने वाली सिविल सोसायटी ग्रुप ने मुहैया कराए हैं।  बच्चों की मौत की यह रिपोर्ट सीरिया के गृहयुद्ध की एक तस्वीर मात्र है। हकीकत यह है कि बडी संख्या में स्कूल खंडहरों में तब्दील हो गए हैं और बडी संख्या में बच्चे शरणार्थी बन गए हैं।  सीरिया की यह लड़ाई बचपन के खिलाफ भी एक युद्ध है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You