प्रभावशाली इराकी शिया धर्मगुरू अल-सद्र ने राजनीति छोड़ी

  • प्रभावशाली इराकी शिया धर्मगुरू अल-सद्र ने राजनीति छोड़ी
You Are HereInternational
Monday, February 17, 2014-2:55 AM

इराक: पूर्व राष्ट्रपति सद्दाम हुसैन के बाद के इराक की एक अहम हस्ती, एक बड़े राजनीतिक आंदोलन के नेता तथा प्रभावशाली शिया धर्मगुरू मुक्तदा अल-सद्र ने चुनावों से दो महीने पहले राजनीति से अपनी विदाई का ऐलान किया है। अल-सद्र का यह फैसला ऐसा है जिससे एक ऐसे राजनीतिक करियर का खात्मा हो जाएगा जो इराक में अमेरिकी सेना की मौजूदगी से शुरू होकर करीब एक दशक से भी ज्यादा समय तक चला।

एएफपी द्वारा प्राप्त अल-सद्र के एक बयान में बताया गया, ‘‘मैं सभी राजनीतिक मामलों में अपनी दखल न करने का ऐलान करता हूं और अब कोई ऐसा ब्लॉक नहीं है जो अब हमारा प्रतिनिधित्व करता है। न तो सरकार या संसद के बाहर मेरा कोई पद है और न ही भीतर।’’अप्रैल में होने जा रहे चुनावों से पहले 325 सदस्यीय संसद में अल-सद्र आंदोलन की 40 सीटें और कैबिनेट में छह पद हैं। उन्होंने कहा कि उनके आंदोलन के राजनीतिक दफ्तरों को बंद कर दिया जाएगा पर सामाजिक कल्याण, मीडिया और शिक्षा से जुड़े कार्यालय खुले रहेंगे। अब तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि अल-सद्र का फैसला स्थायी है या अस्थायी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You