ध्यान दीजिए, इससे पहले कि बहुत देर हो जाए

  • ध्यान दीजिए, इससे पहले कि बहुत देर हो जाए
You Are HereInternational
Tuesday, April 01, 2014-7:55 PM

न्यूयॉर्क: इससे पहले कि बहुत देर हो जाए, अपने आहार और व्यायाम पर नियमित ध्यान दीजिए क्योंकि एक नए शोध के अनुसार उच्च रक्तचाप और बढ़े हुए ग्लूकोज स्तर वाले युवाओं को आगे के जीवन में मनोभ्रंश (पागलपन) होने का खतरा अधिक होता है। शोधकर्त्ताओं का कहना है कि बढ़ा हुआ ग्लूकोज स्तर, मस्तिष्क में रक्त की आपूर्ति कम करके मध्य आयु में ही संज्ञानात्मक क्रिया को कम सकता है। जिससे मस्तिष्क के ढांचे में बदलाव होता है और सूजन और ऑक्सीडेटिव तनाव बढ़ता है, जो कि न्यूरॉनों को नुकसान पहुंचा सकता है।

युनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया, सैन फ्रांसिस्को के प्रोफेसर क्रिस्टीन येफ ने बताया, ‘‘अगर ऐसा होता है तो मध्य उम्र से पहले ही क्षति होनी शुरू हो जाती है, हमें शुरुआती जीवन में दिल की बीमारियों से बचने और उन्हें कम करने पर ध्यान देने की जरूरत है।’’ येफ ने बताया, ‘‘ये हृदय संबंधी कारक काफी परिवर्तनीय है।’’

‘सर्कुलेशन’ जर्नल में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार 25 साल के अध्ययन में हर तीन से पांच साल में दिल के खतरे संबंधी कारकों की जांच की गई। अध्ययन में सहायक क्रिया, संज्ञानात्मक प्रसंस्करण गति और मौखिक स्मृति की जांच के लिए परीक्षण किए गए। परीक्षण के परिणाम में पाया गया कि जिनका रक्तचाप और ग्लूकोज स्तर बढ़ा हुआ था उनका प्रदर्शन तीनों परीक्षणों में खराब था।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You