मोदी पर गोल्डमैन साक्स की रिपोर्ट से सरकार ख़फ़ा

  • मोदी पर गोल्डमैन साक्स की रिपोर्ट से सरकार ख़फ़ा
You Are HereNational
Saturday, November 09, 2013-8:00 AM

नई दिल्लीः सरकार और कांग्रेस ने वैश्विक निवेश बैंक गोल्डमैन साक्स की तीखी निंदा की जिसकी एक ताजा रपट में आम चुनाव में भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी की जीत की संभावना के आधार पर स्थानीय शेयर बाजार की आगे की संभावनाओं को बेहतर बताया गया है।

सरकार ने इस रपट को आपत्तिजनक बताते हुए इसे खारिज किया पर अमेरिकी निवेश बैंक ने कहा है कि इस रपट में कोई राजनीति नहीं है और वह इस पर कायम है। गोल्डमैन साक्स ने अपनी स्थिति स्पष्ट करते हुए कहा है कि उसकी रपट निवेशकों की धारणा पर आधारित है और उसमें किसी तरह का राजनीतिक पक्षपात नहीं किया गया है।

गोल्डमैन साक्स की रिपोर्ट में अगले आम चुनाव में मोदी की अगुवाई में भाजपा की जीत का संकेत दिए जाने से चिढ़े वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री आनंद शर्मा ने कहा कि यह रपट बेहद अनुचित तथा आपत्तिजनक है। गोल्डमैन की अंग्रेजी में मॉडी-फाइंग अवर व्यू: रेज इंडिया टू मार्केटवेट शीर्षक की रिपोर्ट में मोदी को व्यवसाय या कारोबार के लिए दोस्ताना बताया गया है। इसमें अंग्रेजी के शब्द मॉडिफाइंग में मॉडी को अलग कर दिया गया है जो भाजपा नेता मोदी के नाम का आभास देता है।

रिपोर्ट को खारिज करते हुए वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री शर्मा ने कहा कि हमें इस तरह के रोजाना के प्रमाण पत्र या आश्वासनों की जरूरत नहीं है। हम एक आत्मविश्वासपूर्ण राष्ट्र हैं। मेरा मानना है कि किसी भी एजेंसी या संगठन को उन्हीं क्षेत्रों पर ध्यान देना चाहिए जिसमें उनकी विशेषज्ञता है। शर्मा ने कहा कि क्या हम अन्य देशों को कहते हैं कि उनके मतदाता क्या फैसला करें। लोकतंत्र तथा देश का सम्मान किया जाना चाहिए। कांग्रेस के महासचिव दिग्विजय सिंह ने कहा कि निवेश बैंक को वही काम करना चाहिए जिसमें उसकी विशेषज्ञता है। उसे राजनीतिक अटकलबाजी से बचना चाहिए।

सिंह ने कहा कि नई सरकार क्या होगी, यह देश के लोगों को तय करना है, इन एजेंसियों को नहीं। उन्हें खुद को सिर्फ अर्थव्यवस्था तक सीमित रखना चाहिए। इसी सप्ताह गोल्ड़मैन ने अपनी रिपोर्ट में भारत की साख को अंडरवेट की जगह मार्केटवेट यानी बाजार की दृष्टि से उपयुक्त श्रेणी में रख दिया है। रिपोर्ट में कहा गया था कि शेयर निवेशक मोदी को बदलाव लाने वाला मान रहे हैं।

वहीं आज जारी बयान में गोल्डमैन साक्स ने कहा कि एशिया प्रशांत पोर्टफोलियो रणनीति संबंधी हमारी रिपोर्ट में किसी तरह के राजनीतिक पक्षपात का समावेश नहीं है। न ही इसमें गोल्डमैन साक्स या उसके किसी विश्लेषक का राजनीतिक विचार शामिल किया गया है। इसमें सिर्फ इस बात का उल्लेख है कि निवेशकों की धारणा दलों की राजनीति से प्रभावित होती है। हम इस रिपोर्ट तथा अपने अनुसंधान पर कायम हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You