शिवराज के परिजनों के अरबपति बनने के प्रमाण सामने आने लगे: अजय

  • शिवराज के परिजनों के अरबपति बनने के प्रमाण सामने आने लगे: अजय
You Are HereNational
Friday, November 15, 2013-12:55 PM

भोपाल: नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के परिजनों के अरबपति बनने और कांग्रेस के आरोपपत्र 1.46 लाख करोड़ रुपए के घोटालों के प्रमाण अब सामने आने लगे हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री से कहा कि उनके भाई पर 20 लाख रुपए लेने का आरोप लगा है, उसका वह 24 घंटे के अंदर जवाब दें अन्यथा इस्तीफा दें।

 

नेता प्रतिपक्ष ने यहां जारी एक बयान में कांग्रेस नेता के.के. मिश्रा द्वारा कल इंदौर में आयोजित पत्रकार वार्ता में मुख्यमंत्री के भाई नरेन्द्र सिंह चौहान उर्फ मास्साब के विरुद्ध 20 लाख रुपए रिश्वत लेने और उसके ऑडियो-वीडियो द्वारा प्रमाण पेश करने को एक गंभीर मामला बताते हुए कहा कि प्रमाण पेश करने के बाद अब मुख्यमंत्री को अपने पद पर एक पल भी बने रहने का अधिकार नहीं है।

 

सिंह ने कहा कि कांग्रेस के आरोप पत्र को झूठा बताने वाले मुख्यमंत्री शिवराज के परिजनों ने जो करोड़ों रुपए की संपत्ति अर्जित की और उनकी सरकार में जो घोटाले हुए, उनकी कलई प्रमाणों के साथ सामने आने लगी है। उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से कहा कि 20 लाख रुपए रिश्वत लेने के आरोपों के पूर्व भी अवैध खनन, कौडिय़ों के भाव जमीन खरीदने संबंधी अनेक आरोप उन पर हमेशा लगे हैं लेकिन मुख्यमंत्री हमेशा मौन रहकर और विधानसभा में होने वाली चर्चा से कन्नी काटकर भागते रहे हैं।

 

सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री पिछले दो साल से पत्रकार वार्ता तो आयोजित करते हैं लेकिन पत्रकारों के द्वारा पूछे गए प्रश्नों का न (न) तो जवाब देते हैं और न (न) ही उन्हें प्रश्न पूछने का अधिकार देते हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री न (न) केवल अलोकतांत्रिक हो गए हैं, बल्कि अपने उपर लगे आरोपों का भी कोई जवाब नहीं देते हैं। उन्होंने कहा कि ईमानदारी के होर्डिंग्स से वे ईमानदार नहीं होंगे, उन्हें अपने परिजनों द्वारा किए गए घोटालों और भ्रष्टाचार का जवाब देना होगा।

 

सिंह ने कहा कि ईमानदारी का लबादा ओढ़े हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान वास्तव में भाजपा के आठ वर्षों के घोटालों और भ्रष्टाचार के जनक हैं। यही कारण है कि प्रदेश में भ्रष्टाचार के मामले में मध्यप्रदेश के इतिहास को न (न) केवल कलंकित किया गया है, बल्कि प्रदेश को पूरे देश में बदनाम किया गया है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You