माकपा ने की मोदी पर लगे जासूसी के आरोप की अदालती निगरानी में जांच की मांग

  • माकपा ने की मोदी पर लगे जासूसी के आरोप की अदालती निगरानी में जांच की मांग
You Are HereNational
Saturday, November 16, 2013-4:17 PM

नई दिल्ली: माकपा ने आज गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के घनिष्ठ सहयोगी और भाजपा नेता अमित शाह पर एक युवती की अवैध तरीके से निगरानी कराने के आरोपों की अदालत की निगरानी में जांच कराने की मांग करते हुए कहा कि यह गुजरात में नागरिक अधिकार की स्थिति को लेकर कई गंभीर सवाल खड़े करती है। माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) ने आज यहां एक बयान जारी कर कहा, ‘‘एक युवती की निजी जिंदगी मेंं ताक झांक करने, उसकी हर गतिविधि पर नजर रखने, यहां तक कि उसके दोस्तों और परिवार के अन्य सदस्यों की जासूसी करने के लिए राज्य मशीनरी और आतंकवाद निरोधी दस्ते का उपयोग किया जाना, मोदी सरकार में लोकतांत्रिक प्रशासन के न्यूनतम मानदंडों के पतन और अनैतिक एवं अवैध गतिविधियों को दर्शाता है।’’

इसमें कहा गया कि ‘साहेब’ के आदेश पर एक युवती की ‘अवैध निगरानी’ किए जाने को लेकर शाह और गुजरात आतंकवाद निरोधी दस्ते के तत्कालीन अधीक्षक के बीच हुई बातचीत से जुड़े टेप राज्य में नागरिक अधिकारों की स्थिति को लेकर एक बार फिर से गंभीर प्रश्न खड़े करते हैं। इसमें कहा गया ‘यह सबको पता है कि अमित शाह के लिए यहां सिर्फ एक ही ‘साहब’ हैं’ और वह मोदी हैं। इस मामले में मोदी की क्या रूचि थी? माकपा ने कहा, ‘‘मुख्यमंत्री से जुड़े इस इस मामले में यही उचित रहेगा कि अदालत मोदी की संलिप्ता की जांच करें और, अगर वह इसमें संलिप्त पाए जाते हैं, तो उन पर जरूर अभियोजित किया जाना चाहिए।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You