खुदरा क्षेत्र में एफडीआई पर ‘आप’ का निर्णय गैर-जिम्मेदाराना: शर्मा

  • खुदरा क्षेत्र में एफडीआई पर ‘आप’ का निर्णय गैर-जिम्मेदाराना: शर्मा
You Are HereNational
Tuesday, January 14, 2014-3:18 PM

नई दिल्ली: केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री आनंद शर्मा ने दिल्ली में बहु-ब्रांड खुदरा क्षेत्र में एफडीआई का निर्णय पलटने के दिल्ली की नई सरकार के निर्णय की तीखी आलोचना करते आज इसे ‘अकस्मात, गैर-जिम्मेदाराना और बिना सोचा समझा’ निर्णय करार दिया। शर्मा ने कहा कि भारत कोई ऐसा हल्का फुल्का देश नहीं है जहां नीतिगत निर्णयों को यूं ही पलट दिया जाए।

उन्होंने कहा कि उनका मंत्रालय आम आदमी पार्टी की अगुवाई वाली दिल्ली सरकार की ओर से बहु ब्रांड खुदरा कारोबार में एफडीआई की अनुमति को पलटे के निर्णय के बारे में दी गयी सूचना की समीक्षा करेगा। शर्मा ने कहा, ‘ कांग्रेस नीति पूर्वीवर्ती दिल्ली सरकार द्वारा नीति को मंजूरी दिए जाने के बाद राजपत्र में अधिसूचना जारी की गई थी। यह अधिसूचित है। हमारा देश कोई बनाना रिपब्लिक (अस्थिर देश) नहीं है। भारत में कभी भी नीतिगत निर्णयों को इस तरह नहीं पलटा गया था।’

मंत्री ने कहा कि नयी सरकार अल्पमत में है, उसका यह निर्णय ‘गैर-जिम्मेदाराना और बिना सोचा समझा निर्णय है। यह एक उल्टा निर्णय है। जिम्मेदार सरकारें ऐसा मनमाना निर्णय या इस तरह की बिना सोची समझी प्रतिक्रिया नहीं कर सकती हैं।’ उल्लेखनीय है कि कल एक अप्रत्याशित घटनाक्रम में आप पार्टी की अगुवाई वाली दिल्ली सरकार ने दिल्ली में बहु-ब्रांड खुदरा क्षेत्र में पूर्ववर्ती शीला दीक्षित सरकार द्वारा दी गई मंजूरी को वापस लेने के लिए केंद्र को पत्र लिख।

दिल्ली सरकार ने कहा कि वालमार्ट और टेस्को जैसी वैश्विक खुदरा कंपनियों के भारत आने से बड़ी तादाद में लोग बेरोजगार होंगे। शर्मा ने हालांकि कहा कि केंद्र ने किसान यूनियनों, एमएसएमई और राज्य सरकारों सहित सभी भागीदारों के साथ व्यापक परामर्श के बाद यह नीति बनाई है।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You