रेल नीर प्लांट की नहीं बढ़ाई गई क्षमता

  • रेल नीर प्लांट की नहीं बढ़ाई गई क्षमता
You Are HereNational
Thursday, January 23, 2014-5:30 PM

नई दिल्ली (राजेश रंजन सिंह): भारतीय रेलवे के उत्तर रेलवे की ट्रेनों में शुद्ध पेयजल की सप्लाई करने वाला नांगलोई स्थित रेल नीर प्लांट सरकारी और विभागीय खामियों के कारण बदहाली का शिकार है। 

सालों पहले यात्री सुविधा में बढ़ोतरी के लिए बना था
सालों पहले यात्री सुविधाओं में बढ़ोतरी करने के उद्देश्य आई.आर.सी.टी.सी. ने नांगलोई में नीर प्लांट की शुरूआत की थी, लेकिन सालों बीतने के बाद भी यह प्लांट क्षमता के अनुरूप उत्पादन नहीं कर पा रहा है।
 इसकी सुध संबंधित विभाग भी नहीं ले रहा है, जिससे लाखों का नुक्सान हो रहा है। नांगलोई संयंत्र से अनुमानित उत्पादन भी नहीं हो पा रहा है। 
क्षमता से कम उत्पादन से हो रहा विभाग को घाटा
क्षमता से भी कम उत्पादन के कारण विभाग को घाटा हो रहा है। बावजूद इसके विभाग मामले से अंजान बना हुआ है। उत्पादन कम होने की स्थिति में रेलों में अशुद्ध पानी की बोतलों की सप्लाई की जाती है, जिससे यात्रियों को असुरक्षा बनी रहती है।  पानी बेचने वाली मल्टी नैशनल कंपनियां इसका फायदा उठाकर लोगों से मनामाना पैसा वसूलती हैं।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You