सिख दंगों के दोषियों को बख्शा न जाए: फारूक

  • सिख दंगों के दोषियों को बख्शा न जाए:  फारूक
You Are HereJammu Kashmir
Wednesday, February 05, 2014-9:36 AM

जम्मू: यू.पी.ए. में घटक नैशनल कांफ्रैंस के अध्यक्ष एवं केंद्रीय अक्षय ऊर्जा मंत्री डा. फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि वर्ष 1984 में दिल्ली में हुए सिख दंगों को देश का कोई व्यक्ति सही नहीं मान सकता। इन दंगों में अकेले दिल्ली में ही 3000 लोगों की निर्मम हत्या कर दी गई, इसलिए सिख दंगों के दोषियों को बख्शा नहीं जाना चाहिए और उन्हें सजा देकर प्रभावित लोगों को न्याय दिलाया जाना चाहिए। आज यहां जम्मू-कश्मीर क्रिकेट एसोसिएशन के सम्मान समारोह में भाग लेने आए डा. अब्दुल्ला पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

जम्मू-कश्मीर से सशस्त्र बल विशेषाधिकार अधिनियम (अफस्पा) हटाने के लिए उनके पुत्र मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला द्वारा छेड़ी गई मुहिम पर डा. फारूक का कहना था कि देश की सुरक्षा हम सबकी प्राथमिकता है और सीमावर्ती क्षेत्रों में सेना को इस कानून की जरूरत पड़ती है, इसलिए सीमावर्ती क्षेत्रों में अफस्पा को लागू रखा जाए, लेकिन जम्मू-कश्मीर के अन्य भागों से आतंकवाद समाप्त हो गया है, इसलिए इन सभी क्षेत्रों से अफस्पा हटाया जाना चाहिए।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You